नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। भारत में कई कंपनियां किसी नए कर्मचारी को भर्ती करने से पहले उनका क्रेडिट स्कोर देख रही हैं। अगर आपका क्रेडिट स्कोर खराब है तो आपकी जॉब एप्लिकेशन के रिजेक्ट होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए नई नौकरी शुरू करने से पहले आपको अपना क्रेडिट स्कोर जरूर देख लेना चाहिए।

विशेषज्ञों का कहना है कि जॉब पाने के लिए इन कंपनियों में अच्छा क्रेडिट स्कोर दिखाना होगा। बता दें कि 700 से ज्यादा क्रेडिट स्कोर को अच्छा माना जाता है और इससे कम को खराब माना जाता है। क्रेडिट स्कोर लोन लेने में भी मदद करता है। अगर क्रेडिट स्कोर अच्छा नहीं होता है तो कंपनियां लोन एप्लिकेशन भी रिजेक्ट कर देती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि खराब क्रेडिट स्कोर लोन रिपेमेंट में आपके गैर जिम्मेदाराना व्यवहार को दिखाता है।

इन सेक्टर्स में देखा जाता है क्रेडिट स्कोर

आजकल बैंकिंग, टेलीकॉम, इंश्योरेंस जैसे सेक्टर की कंपनियां नौकरी के आवेदक का क्रेडिट स्कोर देखती हैं। इन कंपनियों के अलावा सेबी और भारतीय बीमा विनियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) जैसी संस्थाओं में नौकरी के लिए क्रेडिट स्कोर को जरूरी क्राइटेरिया माना जाता है। इसलिए अगर आप इन सेक्टर की कंपनियों में नौकरी करने के इच्छुक हैं तो अपने क्रेडिट स्कोर को खराब होने से बचाकर रखें। यह ना सिर्फ आपको नौकरी दिलाने में मदद करेगा बल्कि इससे आपको लोन मिलने में भी आसानी होगी। साथ ही कंपनियां आवेदक की वित्तीय सेहत की जानकारी भी जुटाती है। दरअसल, इसके पीछे की वजह है कि अगर किसी कर्मचारी पर कर्ज का बोझ है तो उसका असर उसके प्रोफेशनल कामकाज पर हो सकता है।

खराब क्रेडिट कार्ड को सुधारने के लिए अपनाये ये तरीक

अगर आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो निश्चित अंतराल पर अपनी क्रेडिट रिपोर्ट मंगाते रहें। इससे आपको लगातार अपने क्रेडिट स्कोर की जानकारी मिलती रहेगी। साथ ही अगर कोई बिल पेंडिंग हैं तो इसका पता आपको क्रेडिट स्कोर में लग जाएगा। इसके बाद आप समय पर बिल भरते रहेंगे तो आपका क्रेडिट स्कोर सही रहेगा।  

Posted By: Pramod Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप