नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। कमाई के साथ निवेश भी प्रमुख चिंताओं में से एक है। हम सभी अपने किए गए निवेश से सर्वश्रेष्ठ पाने की उम्मीद करते हैं। जब हम शेयर और प्रतिभूतियों में प्रत्यक्ष निवेश करते हैं, तो व्यापक बाजार अनुसंधान की आवश्यकता के साथ भारी जोखिम भी शामिल होता है। इसके लिए म्युचुअल फंड हमेशा सबसे अच्छा माना गया है। आप एकमुश्त निवेश के अलावा सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान्स और सिस्टमैटिक ट्रांसफर प्लान्स जैसी कई योजनाओं के जरिए म्युचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं। जैसे हम एसआईपी और एसटीपी के माध्यम से किस्तों में निवेश करते हैं, वैसे ही हमारे पास सिस्टमैटिक विदड्रॉअल प्लान या एसडब्ल्यूपी के माध्यम से निकासी का विकल्प भी है। आइए जानते हैं कि ये क्या है और कैसे काम करते हैं।

सिस्टेमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान (SIP)

इसके जरिए कोई भी निवेशक एक फिक्स्ड अमाउंट को महीने के एक खास तारीख को म्युचुअल फंड स्कीम में एक निश्चित राशि का निवेश किया जाता है। एसआईपी के माध्यम से निवेश करने का लाभ यह है कि किसी के पास बाजार के लिए समय नहीं है। एसआईपी के माध्यम से निवेश करते समय कई फायदे हैं। हालांकि, शुरुआत में जब लोगों को निवेश करना होता है तो उनमें जबरदस्त उत्साह होता है, लेकिन वे नियमित निवेश करने में असफल रहते हैं। वैसे महीने में एक निश्चित राशि को निवेश करने को लेकर बाद में इसमें नियमितता आती है। SIP हमेशा लंबी अवधि के लिए किया जाना चाहिए।

सिस्टेमेटिक ट्रांसफर प्लान (STP)

एसटीपी एक योजना है जहां कोई एक विशेष योजना में एकमुश्त राशि का निवेश किया जाता है, जिसमें ज्यादातर मुद्रा बाजार निधि होती है और फिर एक विशेष राशि को पूर्व निर्धारित अंतराल में किसी अन्य योजना में स्थानांतरित कर देती है। अगर बाजार बहुत अस्थिर है और आप कम अवधि में अपने पैसे के साथ जोखिम नहीं उठाना चाहते हैं, तो आप सिस्टेमेटिक ट्रांसफर प्लान के माध्यम से इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं। इस तरह अस्थिर बाजार स्थितियों के तहत, एसटीपी योजना में निवेश करना बेहतर है।

हालांकि, लिक्विड फंड्स से मिलने वाला रिटर्न बहुत अच्छा नहीं होता है, लेकिन आप सेविंग अकाउंट में मिलने वाले रिटर्न से बेहतर रिटर्न यहां पा सकते हैं।

सिस्टेमेटिक विदड्रा प्लान (SWP)

एक व्यवस्थित निकासी योजनाओं के माध्यम से नियमित मासिक आय की योजना बनाई जा सकती है। अपनी आवश्यकता के अनुसार, आप मासिक के साथ-साथ त्रैमासिक आधार पर निकासी का विकल्प चुन सकते हैं। आमतौर पर इस योजना के लिए नकद-प्रवाह बनाए रखने के लिए सेवानिवृत्ति के बाद एक नियमित आय प्राप्त करने का विकल्प चुना जाता है।

एसडब्ल्यूपी प्रणाली वहां काम करती है जहां आप अपने म्यूचुअल फंड से मासिक या त्रैमासिक रूप से एक निश्चित राशि अपने बैंक खाते से निकालना चाहते हैं। यह एसआईपी के बिल्कुल उल्ट है।

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप