नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। अगर आप डाकघर में नियमित बचत खाता खुलवाना चाहते हैं तो आपके पास दो विकल्प हैं। एक तो इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक और दूसरा डाकघर बचत खाता। इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक को 1 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉन्च किया था। इंडिया पोस्ट का पेमेंट बैंक किसी अन्य बैंक की ही तरह होगा लेकिन इसका संचालन छोटे स्तर पर होगा जिसमें जोखिम की संभावना कम होगी। बैंक सेविंग अकाउंट पर 4 फीसद की दर से ब्याज देगा। हम इस खबर में आपको इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक और डाकघर बचत खाता से जुड़ी पांच बड़ी बातें बता रहे हैं।

जमा पर ब्याज दर: आईपीपीबी की वेबसाइट के मुताबिक बैंक सेविंग अकाउंट पर 4 फीसद की दर से ब्याज देगा। इंडिया पोस्ट सेविंग स्कीम भी सेविंग अकाउंट पर 4 फीसद की दर से ब्याज देता है।

मिनिमम इन्वेस्टमेंट: इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक में नियमित बचत खाता खोलने के लिए किसी भी मिनिमम बैलेंस की आवश्यकता नहीं होती है, जबकि इंडिया पोस्ट सेविंग स्कीम में अकाउंट ओपन करने के लिए न्यूनतम 20 रुपये होने चाहिए।

अधिकतम जमा लिमिट: इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक 1 लाख रुपये तक की जमा को स्वीकार कर सकते हैं। जबकि इंडिया पोस्ट सेविंग स्कीम के लिए कोई मैक्सिमम लिमिट नहीं है।

दो खातों को जोड़ना: इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक खाते में 1 लाख रुपये से ज्यादा जमा की गई राशि अपने आप पोस्ट ऑफिस के सेविंग अकाउंट में बदल जाएगी।

मिनिमम बैलेंस: आईपीपीबी की वेबसाइट के अनुसार इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक में मंथली मिनिमम बैलेंस रखने की कोई आवश्यकता नहीं है। वहीं इंडिया पोस्ट सेविंग स्कीम में अगर ग्राहक ने चेक की सुविधा नहीं ली है तो न्यूनतम 50 रुपये अकाउंट में रखना होगा।

आईपीपीबी मोबाइल बैंकिंग नाम से 'इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक लिमिटेड' की ओर से एक एप को भी पेश किया गया है। इसकी मदद से आप अपना खाता भी खोल सकते हैं। 

कैसे खोलें खाता?

  • एक बार जब आप इस एप को इंस्टॉल कर लेंगे, पहले पन्ने पर आपको लॉग-इन आइडी और यूजर आईडी पासवर्ड का ऑप्शन नजर आएगा। अगर आपके पास अकाउंट नहीं है तो तुरंत ओपन योर अकाउंट नाउ पर क्लिक करें। ऐसा कर आप अगले पेज पर चले जाएंगे, जहां आपसे आपका मोबाइल नंबर पूछा जाएगा, साथ ही उस प्रोडक्ट का नाम पूछा जाएगा जिसे आप चाहते हैं और आपकी पैन डिटेल, इसको फिल करते ही आपक कॉन्टीन्यू पर क्लिक कर दें।
  • अगले पेज पर आपसे आपका आधार नंबर एंटर करने को कहा जाएगा। इसके बाद आपसे पूछा जाएगा कि क्या आप नियम व शर्तों से सहमत हैं। इसके बाद इस एप के जरिए आपको एक ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) भेजा जाएगा। यह आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। 
  • अगर आप अपनी यूजर आईडी और पासवर्ड के जरिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को पूरा कर लेते हैं तो आप मोबाइल बैंकिंग सर्विस के लिए खुद को रजिस्टर कर पाएंगे। मोबाइल बैंकिंग के लिए रजिस्ट्रेशन कराने के लिए आपको काफी सारी डिटेल देनी होंगी जैसे नया आईपीपीबी अकाउंट नंबर, कस्टमर आईडी, डेट ऑफ बर्थ और रजिस्टर्ड नंबर। एक बार स्टार्ट करने पर यह एप आपको एक और ओटीपी भेजेगी, जो कि आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। इसके बाद आपको अपना एमपिन जनरेट करना होगा इसके बाद ही मोबाइल बैंकिंग रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी होगी।

 

Posted By: Nitesh