नई दिल्‍ली, पीटीआइ। फाइनेंस मिनिस्‍टर निर्मला सीतारमण इकोनॉमी की रिकवरी के लिए बैंकरों के अलावा राज्‍यों के वित्‍त मंत्रियों से भी बात करेंगी। यह बैठक 17 नवंबर को होगी। फाइनेंस सेक्रेटरी टीवी सोमनाथन ने बताया कि FM के साथ बैठक में केंद्र शासित प्रदेश के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। बैठक में पूंजीगत खर्चों और बड़े इंफ्रा प्रोजेक्‍ट पर बातचीत होगी।

फाइनेंस सेक्रेटरी ने कहा कि वैश्विक स्‍तर पर निवेशक भारत को लेकर सकारात्‍मक प्रतिक्रिया दे रहे हैं। वे भारत की ढांचागत परियोजनाओं में निवेश करना चाहते हैं। उन्‍होंने कहा कि इंफ्रा प्रोजेक्‍ट की तरक्‍की में राज्‍यों का अहम योगदान है। उन्‍होंने कहा कि केंद्र और राज्‍य सरकारें एकसाथ काम करेंगी तो इससे विकास को बढ़ावा मिलेगा। मुझे लगता है कि हर राज्‍य के प्रतिनिधित्‍व को मिल रहा है।

बता दें कि केंद्र सरकार की इस बैठक का मकसद गतिशक्ति पहल से जुड़ा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस पहल को 14 अक्‍टूबर को लॉन्‍च किया था। इस पहल के जरिए इंफ्रा प्रोजेक्‍ट की रफ्तार को बढ़ाना मकसद है। इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी अजय सेठ ने कहा कि इंफ्रा प्रोजेक्‍ट को मंजूरी में राज्‍यों की अहम भूमिका है। हर राज्‍य की अपनी ओद्यौगिक नीति है। बैठक का मकसद प्राइवेट इन्‍वेस्‍टमेंट को बढ़ाना है।

Edited By: Ashish Deep