Move to Jagran APP

Meta Layoff: मेटा में जारी है छंटनी का दौर, भारत मे कंपनी के कई बड़े अधिकारियों की छुट्टी

Meta Layoff Update दुनिया की कई कंपनियों में कर्मचारियों की छंटनी जारी है। मेटा ने भी आखिरी राउंड की छंटनी शुरू कर दी है। इस चरण में कई बड़े अधिकारियों पर गाज गिरी है। आइए जानते हैं कि कंपनी ने कितने कर्मचारियों को निकाला है?

By Siddharth PriyadarshiEdited By: Siddharth PriyadarshiPublished: Fri, 26 May 2023 03:21 PM (IST)Updated: Fri, 26 May 2023 03:29 PM (IST)
Meta Layoff: Meta employee: lose job in final round

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Meta Layoff: दुनिया में मंदी की आशंका के बीच कई कंपनियों में छंटनी का सिलसिला जारी है। फेसबुक (Facebook) और इंस्टाग्राम (Instagram) की पेरेंट कंपनी मेटा ने तीसरे और आखिरी राउंड की छंटनी शुरू कर दी है। इस बार कंपनी से 10,000 कर्मचारियों को निकाला जा सकता है।

मेटा ने मार्च महीने में छंटनी का घोषणा की थी, जिसके तहत अब छंटनी शुरू हो चुकी है। इससे पहले कंपनी ने पिछले साल नंवबर महीने में छंटनी की थी, तब भी 11,000 कर्मचारियों को निकाला गया है।

भारत में कई अधिकारियों की छंटनी

मेटा के ताजा ले-ऑफ में कई भारतीय अधिकारियों के नाम भी शामिल हैं। खबर है कि भारत में मेटा के कई बड़े अधिकारियों की सेवा समाप्त कर दी गई है।

लिंक्डइन पर दी जानकारी

मेटा से अपनी नौकरी जाने की जानकारी कर्मचारियों ने प्रोफेशनल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म LinkedIn पर दी है। मेटा ने यूजर एक्सपीरियंस, मार्केटिंग, रिक्रूटिंग और इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के कर्मचारियों को नौकरी से निकाला है। माना जा रहा है कि इस छंटनी का असर बिजनेस ग्रुप्स पर भी पड़ेगा। इससे पहले कंपनी ने टेक्निकल डिपार्टमेंट के कर्मचारियों की छंटनी की थी।

मेटा सीईओ ने क्या कहा?

मेटा के सीईओ मार्क जुकरबर्ग (Mark Zuckerberg) मे मार्च महीने में घोषणा की थी कि दूसरे दौर में होने वाली छंटनी तीन अलग-अलग चरणों में होगी। ये छंटनी मई महीने तक खत्म होने की उम्मीद की जा रही है, हालांकि बाद में भी कंपनी छोटे-छोटे राउंड में छंटनी कर सकती है। कंपनी अप्रैल से मई महीने तक 10,000 कर्मचारियों को निकाल सकती है।

मेटा क्यों छंटनी कर रही है?

पिछले कुछ महीनों से मेटा के रेवेन्यू में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। इसी के साथ महंगाई ( Inflation) और डिजिटल विज्ञापन ( Digital Advertising) में कमी आने की वजह से भी कंपनी ने यह फैसला लिया है। कंपनी अपने खर्च में कटौती करके आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) पर फोकस कर रही है। दुनिया में वैश्विक आर्थिक संकट की स्थिति बन रही है।

पिछले कुछ महीनों में कई और कंपनियां जैसे गूगल, माइक्रोस्फॉट, अमेजन आदि ने भी कर्मचारियों की छंटनी की है।

 


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.