नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) वेतनभोगी कर्मचारियों के लिए ईपीएफओ द्वारा चलाई जाने वाली रिटायरमेंट सेविंग स्कीम है। इस स्कीम के तहत एक कर्मचारी को अपनी बेसिक सैलरी का 12 फीसद इसमें योगदान करना होता है, इसी के साथ नियोक्ता की तरफ से भी उतना ही योगदान दिया जाता है। रिटायर होने के बाद कर्मचारी को ब्याज के साथ एक बड़ी रकम मिलती है और ईपीएस के तहत पेंशन भी मिलती है। पीएफ खाते को मैनेज करना बहुत मुश्किल नहीं है। EPFO (Employees Provident Fund Organisation) की आधिकारिक वेबसाइट के जरिए इस खाते को मैनेज करना आसान है। EPFO ने बैलेंस ट्रांसफर और विड्रावल के लिए ऑनलाइन सेवा शुरु की है।

कैसे ऑनलाइन ट्रांसफर करें रकम

सबसे पहले आपको EPFO की वेबसाइट पर लॉगिन करना होगा, इसके लिए आपके यूएएन नंबर और पासवर्ड की जरूरत होगी। इसके बाद आपको 'ऑनलाइन सेवाओं' ड्रॉप-डाउन पर जाना होगा और 'वन मेंबर वन ईपीएफ अकाउंट ट्रांसफर रिक्वेस्ट' चुनना होगा। ट्रांसफर रिक्वेस्ट पर क्लिक करने के साथ ही एक पेज खुलेगा। इसमें आपकी डिटेल्स नजर आएगी। इसके बाद अपना डीपीएफ नंबर, डेट ऑफ बर्थ और डेट ऑफ ज्वाइनिंग से जुड़ी जानकारी देखने के बाद ये कन्फर्म कर लें की सभी जानकारी सही है।

अब आप सेलेक्ट आप्शन को चुनें कि क्या आप अपने वर्तमान या पिछले नियोक्ता को ट्रांसफर को मान्य देना चाहते हैं। फिर पुराने खाते को चुनें और वन-टाइम पासवर्ड (OTP) जेनरेट करें। इसके बाद ओटीपी भरने के बाद रिक्वेस्ट सबमिट हो जाएगी। फिर आपको एक ऑनलाइन फॉर्म आएगा। इस फार्म को भरें और इसे प्रजेंट एंप्लॉयर या फिर प्रीवियर एंप्लॉयर को भेज दें। बता दें कि आपके पूर्व नियोक्ता को भी इस बारे में ऑनलाइन की एक नोटिफिकेशन मिलेगी। आप अपने क्लेम को ट्रैक भी कर सकते हैं। इसके लिए Online service में जाना होगा और फिर ट्रैक क्लेम स्टेट्स पर क्लिक करें। इसेक बाद आसानी से अपने क्लेम का स्टेट्स देख सकते हैं। मालूम ही कि ईपीएफ मेंबर को 12 डिजिट का नंबर मिलता है, जिसे UAN कहते हैं। UAN नंबर EPFO जारी करता है।

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप