नई दिल्ली, एजेंसी। अमेरिकी रिसर्च फर्म हिंडनबर्ग ने आरोप लगाया है कि अडानी समूह पर शेयरों में हेरफेर करने और अकाउंटिंग में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। हिंडनबर्ग का दावा है कि यह बात दो साल की जांच रिपोर्ट के बाद सामने आई है। हिंडनबर्ग ने अडानी समूह के शेयरों पर शॉर्ट पोजीशन बनाई हुई है। 

अडानी ग्रुप ने आरोप को दुर्भावनापूर्ण, निराधार और एकतरफा बताया है। कंपनी के मुताबिक, इस बात को कंपनी के शेयरों का दाम नीचे गिराने के इरादे से किया गया है। बता दें कि यह खबर तब आई है, जब अडानी समूह की कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज (Adani Enterprises) के FPO को आने में एक सप्ताह का समय रह गया है।

एक्टिविस्ट ने लगाए आरोप

अमेरिका की एक निवेश अनुसंधान फर्म हिंडनबर्ग ने कहा कि दो साल की जांच से पता चलता है कि 218 बिलियन अमेरिकी डॉलर वाला अडानी ग्रुप स्टॉक हेरफेर और अकाउंटिंग धोखाधड़ी योजना में शामिल है। अमेरिकी शोधकर्ता के रिपोर्ट के मुताबिक, अडानी समूह के कारोबार में 819 प्रतिशत की औसत वृद्धि हुई है।

रिपोर्ट में शामिल हैं ये चीजें

हिंडनबर्ग की जांच रिपोर्ट में अडानी की संपत्तियों का विवरण है। इसमें कैरिबियाई देशों और मॉरीशस से लेकर संयुक्त अरब अमीरात तक फैले अडानी-परिवार की संस्थाओं का विवरण दिया गया है। 

आरोप निराधार हैं

इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद अडानी ग्रुप के CFO ने कहा कि रिपोर्ट में शामिल चीजों की जानकारी के लिए उससे संपर्क करने का कोई प्रयास नहीं किया गया। यह रिपोर्ट गलत और निराधार सूचनाओं पर आधारित है। CFO ने कहा किइन आरोपों को भारत की सर्वोच्च अदालत ने परखने के बाद खारिज किया है। 

Adani के शेयरों में आई गिरावट

अडानी ग्रुप से जुड़ी इस खबर के सामने आते ही अडानी एंटरप्राइजेज के शेयर गिर गए। अडानी पोर्ट्स एंड एसईजेड लिमिटेड के शेयरों में भी काफी गिरावट आई।

डिस्क्लेमर- यह आर्टिकल सामान्य सूचनाओं पर आधारित है। यह शेयरों की खरीद या बिक्री से संबंधित कोई सलाह नहीं देता है।

ये भी पढ़ें-

Gautam Adani की ये कंपनी बंपर डिस्काउंट पर बेचने जा रही शेयर, इस दिन तक है मौका

Budget 2023 में 'आम आदमी' के लिए क्या होगा 'खास', जानें वो 5 चीजें जिनमें मिल सकती है राहत

 

Edited By: Sonali Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट