नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। अगर कोई ग्राहक क्रेडिट कार्ड रखता है और उसका सिबिल स्कोर अच्छा है तो बैंक की ओर से उसके क्रेडिट लिमिट को बढ़ाने के लिए कॉल आते हैं। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या उसे क्रेडिट लिमिट बढ़ाने के लिए मिले प्रस्ताव को स्वीकार करना चाहिए या वह ना कर दे। क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता शुरू में नए कार्ड आवेदकों को कम क्रेडिट सीमा की मंजूरी देते हैं। कार्ड जारी करने वाला ग्राहक के रीपेमेंट व्यवहार को ध्यान में रखता है। हालांकि, हाई क्रेडिट लिमिट के ऐसे प्रस्तावों को स्वीकार करने से कर्ज के जाल में फंसने का डर रहता है। 

क्रेडिट लिमिट बढ़ाने के क्या हैं फायदे और नुकसान, जानिए।

क्रेडिट लिमिट के फायदा

क्रेडिट स्कोर में सुधार

क्रेडिट लिमिट बढ़ाने से आपके क्रेडिट स्कोर में सुधार आ सकता है। आम तौर पर उधारकर्ता CUR को 30% से अधिक के स्तर पर क्रेडिट कर्ज का संकेत मानते हैं। आपकी लिमिट तभी बढ़ेगी जब आपका सिबिल स्कोर ठीक रहेगा और आपका रीपेमेंट हिस्ट्री भी ठीक रहे।

वित्तीय संकट से निपटने में आसानी 

बढ़ी हुई क्रेडिट लिमिट नौकरी छूटने, बीमारी, दुर्घटना, विकलांगता आदि से उत्पन्न वित्तीय समस्याओं के कारण इमरजेंसी फंड के रूप में कार्य कर सकती है। पैसे की तत्काल जरूरतों को इससे पार पाया जा सकता है। बढ़ी हुई क्रेडिट लिमिट का एक फायदा यह भी है। इसके अलावा, जिन लोगों के पास अगली नियत तारीख तक क्रेडिट कार्ड बिल चुकाने की क्षमता नहीं है, वे अपने पूरे कार्ड बिल या इसके हिस्से को समान मासिक किस्तों (ईएमआई) में बदल सकते हैं।

आपको ज्यादा लोन मिल सकता है

एक बढ़ी हुई क्रेडिट सीमा आपको क्रेडिट कार्ड के बदले आपको ज्यादा लोन दिला सकती है। यह लोन केवल उन्हें मिल सकता है जिनकी क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी हो। और जिन्होंने समय पर भुगतान किया हो।

क्रेडिट लिमिट के नुकसान

ज्यादा क्रेडिट लिमिट से आप कर्ज के जाल में फंस सकते हैं। हालांकि, एक बढ़ी हुई क्रेडिट कार्ड सीमा आपको अधिक खर्च करने में सक्षम कर सकती है, लेकिन अगर इसका उपयोग सोच समझकर नहीं किया जाता है तो यह आपको और अधिक कर्ज में भी डाल सकती है। इसके अलावा, बहुत सारे क्रेडिट कार्ड लेकर क्रेडिट सीमा को बढ़ाया जा सकता है।

अधिक ब्याज चुकाना होगा

यदि आप हर महीने अपने शेष राशि का भुगतान नहीं करते हैं, तो आप अपनी बकाया राशि पर अधिक ब्याज का भुगतान करेंगे। इसलिए, यदि आपने अपनी क्रेडिट कार्ड की क्रेडिट सीमा बढ़ा दी है, तो ऐसी संभावनाएं हो सकती हैं कि आप अपने बिल का पूरा भुगतान नहीं कर पाएंगे। इस तरह, आपको बैंक को अधिक ब्याज देना पड़ सकता है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप