नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। बचत करने वाले RD यानी कि आवर्ती जमा योजना पर काफी भरोसा करते हैं। आप किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस में अपना RD अकाउंट खुलवा सकते हैं। अलग अलग बैंक में RD में मिलने वाली ब्याज दर अलग अलग होती है। आप देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक और पोस्ट ऑफिस में अपना RD अकाउंट खुलवा सकते हैं। RD योजना में हमें तय कस्तों को जमा करने पर, एक तय ब्याज दर का फायदा मिलता है। आपको बताते चलें कि, किसी RD खाते में एक बार तय की गई किस्त की रकम को बदला नहीं जा सकता है। RD योजना की अवधि खत्म होने पर ग्राहक को मैच्योरिटी की रकम मिलती है। मैच्योरिटी के वक्त, निवेशित राशि का भुगतान संचित ब्याज के साथ उपयोगकर्ता को वापस कर दिया जाता है। इसके अलावा आप पोस्ट ऑफिस की RD योजना में भी अपना पैसा लगा सकते हैं। हम यहां पर आपको पोस्ट ऑफिस RD और SBI RD के अंतर के बारे में बताने जा रहे हैं।

पोस्ट ऑफिस RD योजना

आप पोस्ट ऑफिस की RD योजना के तहत कम से कम 100 रुपए से अपना अकाउंट खोल सकते हैं। RD योजना में आप रकम जमा करने की कोई अधिकतम सीमा तय नहीं की गई है। पोस्ट ऑफिस की RD स्कीम में कोई भी बालिग भारतीय व्यक्ति अपना अकाउंट खुलवा सकता है। नाबालिग की तरफ से उसका अभिभावक अकाउंट खुलवा सकता है।

अगर आपने पोस्ट ऑफिस RD स्कीम में अपनी 12 किस्तें जमा कर दी हैं तो आप इससे लोन भी ले सकते हैं। पोस्ट ऑफिस की RD से आप अपने अकाउंट में जमा रकम के 50 फीसद हिस्से तक की रकम का लोन ले सकते हैं। वर्तमान समय में पोस्ट ऑफिस RD पर 5.8 फीसद की दर से ब्याज मिलता है।

स्टेट बैंक RD

अगर आप देश के सबसे बड़े बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की RD स्कीम में अपना खाता खुलवाते हैं तो, बैंक की RD स्कीम में सामान्य खाते पर अलग और वरिष्ठ नागरिकों के लिए अलग ब्याज दर की पेशकश की जाती है। वरिष्ठ नागरिकों को सामान्य RD खाते की तुलना में जायादा ब्याज दर का लाभ मिलता है। एसबीआइ RD की ब्याज दरें आम जनता के लिए 5 फीसद से 5.4 फीसद और वरिष्ठ नागरिकों के लिए 50 आधार अंकों की अतिरिक्त ब्याज दर में वृद्धि के बीच अलग अलग होती हैं।

यह ब्याज दरें 8 जनवरी 2021 से ही प्रभावी हैं। स्टेट बैंक रेकरिंग डिपॉजिट की मैच्योरिटी 1 साल से लेकर 10 साल की अवधि तक होती है। स्टेट बैंक की RD योजना में, कम से कम मासिक निवेश राशि 10 रुपए के गुणकों में 100 रुपए है। निवेश करने की रकम की कोई ऊपरी सीमा तय नहीं है।

Edited By: Abhishek Poddar