नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) नाबालिगों के लिए ‘Pehla Kadam’ और ‘Pehli Udaan’ नाम से बचत खाता की सुविधा देता है। इस खाते का इस्तेमाल मोबाइल बैंकिंग और इंटरनेट बैंकिंग से भी किया जा सकता है। एसबीआई के मुताबिक, ये दो बचत बैंक खाते नाबालिगों के लिए हैं।

 नाबालिगों के लिए एसबीआई बचत बैंक खाते की विशेषताएं।

  • इस खाते में किसी मासिक अवरेज बैलेंस की जरूरत नहीं है।
  • इसमें अधिकतम 10 लाख रुपये बैलेंस रख सकते हैं।
  • इसके अलावा चेक बुक की सुविधा दोनों प्रकार के खातों के साथ उपलब्ध है। साथ में विशेष तौर पर डिजाइन किया गया 10 चेक बुक जारी की जाती हैं। पहले के खाते में यह नाबालिग के नाम पर गार्जियन को जारी किया जाएगा। 
  • इस खाते में फोटो एटीएम-कम-डेबिट कार्ड की सुविधा उपलब्ध है। 'पहला कदम' खाते के लिए निकासी सीमा 5,000 रुपये है। नाबालिग और अभिभावक के नाम से कार्ड जारी किए जाएंगे। पहली उड़ान के लिए भी निकासी सीमा 5,000 रुपये है।
  • मोबाइल बैंकिंग सुविधा के साथ टॉप अप जैसे सीमित लेनदेन अधिकार मिलते हैं। प्रति दिन लेनदेन की सीमा 2,000 रुपये है।
  • माता-पिता/अभिभावकों के लिए ओवर ड्राफ्ट की सुविधा।

मालूम हो कि भारतीय स्टेट बैंक अपने ग्राहकों को एटीएम फ्रॉड के बारे में अलर्ट करने के लिए एक नई सुविधा लेकर आया है। अब जब भी बैंक को आपके खाते के लिए बैलेंस पूछताछ या मिनी स्टटेमेंट की रिक्वेस्ट प्राप्त होगी, तो तुरंत बैंक की ओर से एक एसएमएस ग्राहक के मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। इससे यह लाभ होगा कि अगर ग्राहक द्वारा रिक्वेस्ट किये बिना ही उसे बैलेंस पूछताछ या मिनी स्टेटमेंट का मैसेज आएगा, तो वे अपना एटीएम कम डेबिट कार्ड को तुरंत ब्लॉक करा सकते हैं।

देश के सबसे बड़े बैंक ने अपने ग्राहकों के पैसों की सुरक्षा के लिए यह फीचर लॉन्च किया है। एसबीआई की यह सुविधा इसके ग्राहकों को देश में तेजी से बढ़ते एटीएम धोखाधड़ी के मामलों से बचने में मदद करेगी। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस