नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। रिटायरमेंट की प्लानिंग सभी को करनी चाहिए, क्योंकि जैसा लाइफस्टाइल आज चल रहा है उसे रिटायरमेंट के बाद भी बरकरार रखने के लिए निवेश जरूरी होता है। रिटायरमेंट सेविंग के लिए कुछ नियमों को मानना होता है और यह तय करना होता है कि भविष्य में कितने रुपये की जरूरत होगी, जिससे जीवन निर्वाह आसानी से होता रहेगा। आज हम आपको बता रहे हैं कि रिटायरमेंट के लिए किस प्रकार प्लानिंग करनी चाहिए।

पोस्ट रियायरमेंट लाइफस्टाइल

अगर आप रिटायरमेंट के बाद एक अच्छी लाइफ चाहते हैं तो पहले यह देखना होगा कि रिटायरमेंट से पहला लाइफस्टाइल कैसा है और उसी प्रकार से आगे का जीवन चलना चाहिए। और रिटायरमेंट से कुछ साल पहले अधिक से अधिक सेविंग करनी चाहिए, क्योंकि रिटायरमेंट के बाद इंसान को इन्हीं पैसों की मदद से जीवन चलाना है।

हेल्थ

इस विषय पर अधिकतर लोग ध्यान नहीं देते हैं इसको लेकर अलग से निवेश नहीं करते हैं। रिटायरमेंट के समय हर किसी को लगता है कि वह स्वस्थ है, लेकिन बीमारी कब हो जाए उसको लेकर कुछ कहा नहीं जा सकता है। इसलिए खुद और अपने साथी के लिए एक सही प्रकार का हेल्थ इंश्योरेंस लेना चाहिए, जिससे रिटायरमेंट के बाद आपकी सेविंग को कोई दिक्कत नहीं आएगी।

परिवार

परिवार के सदस्यों को देखते हुए सेविंग करनी चाहिए, क्योंकि कई परिवार में सभी सदस्य साथ रहते हैं और हो सकता है कि वह आप पर डिपेंड करते हों तो उसके हिसाब से ही सेविंग करनी चाहिए। हो सकता है कि आपकी वाइफ आपसे यंग हों और उनके खर्च आपके अधिक हों और उम्र के हिसाब से उन्हें ज्यादा दिन तक जीवन यापन करने के लिए धन की जरूरत हो। इसको देखते हुए सेविंग करेंगे तो भविष्य में वित्तीय संकटों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

पैसा का ठीक प्रकार से निवेश

अधिकतर लोग जो रिटायरमेंट के करीब होते हैं वह ये सोचते हैं कि उन्हें रिटायरमेंट के बाद कम धन की जरूरत होगी जबकि ऐसा नहीं है। जिस प्रकार से महंगाई बढ़ती जा रही है उसके देखते हुए भविष्य में अधिक धन की जरूरत होगी और उस प्रकार से सेविंग करनी चाहिए।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप