नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। बच्चों को शुरू से ही बचत की आदत सिखाएं। मसलन, आवश्यक घरेलू खर्चों जैसे स्कूल की फीस, ट्यूशन शुल्क, किराया, कर्ज की ईएमआई आदि के बारे में बताएं। हालांकि, वे पैसे के मूल्य को ज्यादा न समझते हुए बड़े होने के साथ अपने शौक पर ध्यान देते हैं। ऐसे में आपको अपने बच्चों को बचत की आदत के बारे में बताना चाहिए। आप अपने बच्चों के लिए बैंक खाता खोलकर उन्हें बचत की सीख दे सकते हैं। बच्चे के दस साल का होने पर वह खुद अपना खाता संचालित कर सकता है। अगर आप अपने बच्चों के लिए बचत खाता खोलने की सोच रहे हैं तो आप एचडीएफसी बैंक किड्स एडवांटेज अकाउंट, एसबीआई 'पहला कदम और पहली उड़ान', आईसीआईसीआई बैंक यंग स्टार्स सेविंग्स अकाउंट पर विचार कर सकते हैं।

HDFC बैंक किड्स एडवांटेज अकाउंट

इस खाते में बच्चों के लिए मुफ्त शिक्षा बीमा कवर और बच्चों के लिए अंतरराष्ट्रीय डेबिट कार्ड जैसे लाभ मिलते हैं। माता-पिता अपने बच्चे के खाते में नेटबैंकिंग एक्सेस के साथ बच्चे के खाते का लाभ उठा सकते हैं। इसके अलावा बच्चे के भविष्य की सुरक्षा के लिए वाहन दुर्घटना होने पर माता-पिता या अभिभावक की मृत्यु होने की स्थिति में 1 लाख रुपये का मुफ्त शिक्षा बीमा कवर दिया जता है। एटीएम से 2,500 रुपये निकाला जा सकता है, प्रति दिन 10,000 रुपये खर्च कर सकते हैं।

ICICI बैंक

1 दिन से लेकर 18 वर्ष तक की आयु के बच्चे खाता खुलवा सकते हैं। नाबालिग की ओर से अभिभावक खाता खोल और संचालित कर सकता है। कभी भी इंटरनेट बैंकिंग, आईमोबाइल ऐप और एटीएम का उपयोग किया जा सकता है। मुफ्त में पासबुक सुविधा, मुफ्त ई-मेल स्टेटमेंट और मुफ्त भुगतान योग्य चेक बुक भी मिलता है।

SBI 'पहला कदम और पहली उड़ान'

कोई भी बच्चा/नाबालिग माता-पिता/अभिभावक या अकेले माता-पिता/अभिभावक के साथ संयुक्त रूप से खाता खोल सकता है। इस खाते में वे प्रति दिन 5,000 रुपये तक लेनदेन कर सकते हैं, इसके अलावा बिल भुगतान, सावधि जमा (एफडी) खोलना, आवर्ती जमा (आरडी), राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) भी किया जा सकता है। बच्चों के इस खाते में इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग जैसी सुविधाएं मिलती हैं। इसके अलावा 10 चेक कॉपी चेक बुक के साथ नाबालिग के नाम पर जारी की जाती है।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस