नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। देश में नॉन- लाइफ इंश्योरेंस सेक्टर में बड़ी बढ़त देखने को मिली है। इंश्योरेंस नियामक भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (IRDAI) की ओर से जारी किए गए अगस्त के डाटा के मुताबिक, देश में नॉन- लाइफ इंश्योरेंस प्रीमियम सालाना आधार पर 12 प्रतिशत बढ़कर 24,471 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है।

पिछले साल समान अवधि में देश में 31 नॉन- लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों ने कुल 21,867 करोड़ रुपये के प्रीमियम का संग्रहण किया था।

हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कंपनियों को अधिक फायदा

आईआरडीएआई की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, 24 जनरल इंश्योरेंस कंपनियों की ओर से एकत्रित किए गए प्रीमियम में अगस्त में 9.3 प्रतिशत का इजाफा देखने को मिला है। इस साल अगस्त में यह बढ़कर 17,101 करोड़ रुपये हो गया है, जो पहले समान अवधि में 15,648 करोड़ रुपये था।

देश की पांच स्टैंडअलोन हेल्थ कंपनियों के प्रीमियम संग्रह में 28 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इस साल अगस्त में यह बढ़कर 2,059 करोड़ रुपये हो गया है, पिछले साल समान अवधि में यह 1,609 करोड़ रुपये पर था।

सरकारी इंश्योरेंस कंपनियों को बड़ा फायदा

देश की सरकारी नॉन- लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों को भी बड़ा फायदा हुआ है। इन कंपनियों के इंश्योरेंस प्रीमियम में 15.2 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। यह अगस्त 2022 में बढ़कर 5,310 करोड़ रुपये हो गया है, जो पिछले साल समान अवधि में 4,609 करोड़ था।

इस वित्त वर्ष के प्रीमियम आंकड़े

वित्त वर्ष 2022-23 की शुरुआत से बात की जाए, तो अप्रैल से अगस्त तक देश की 31 इंश्योरेंस कंपनियों का कुल प्रीमियम 18.57 प्रतिशत बढ़कर 1,02,357 करोड़ रुपये हो गया है। यह पिछले साल समान अवधि में 86,329 करोड़ रुपये था।

ये भी पढे़ें-

अक्टूबर में 21 दिन बंद रहेंगे बैंक, फटाफट निपटा लें सभी जरूरी काम, देखें छुट्टियों की लिस्ट

ईवी सेक्टर का किंग बनने की तैयारी, BII के साथ मिलकर 4000 करोड़ का निवेश करेगी महिंद्रा

Edited By: Abhinav Shalya