नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। चिकित्सा में खर्च बढ़ने से वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना जरूरी हो गई है। जाहिर है कि एक बीमा एक ऐसा उत्पाद है जो किसी व्यक्ति की ओर से किए गए चिकित्सा खर्च को कवर करता है। इन दिनों कई बीमा कंपनियां विशेष रूप से वरिष्ठ नागरिकों के लिए डिज़ाइन की गई स्वास्थ्य बीमा योजनाएं देती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि अस्पताल में भर्ती होने के बाद अचानक से उच्च लागत के लिए उचित स्वास्थ्य देखभाल योजना है जरूरी है। हम इस खबर में आपको वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना से जुड़ी पांच बातें बता रहे हैं।

मेडिकल हिस्ट्री: वरिष्ठों के लिए बेहतर स्वास्थ्य बीमा चुनने के समय आपको उनके मेडिकल हिस्ट्री के बारे में भी जानकारी रखनी चाहिए। यह एप्लीकेशन प्रोसेस में आपकी मदद करेगा।

अन्य प्लान की तुलना: बाजार में कई सारे हेल्थ इंश्योरेंस प्लान हैं। किसी भी प्लान को लेने से पहले अन्य बीमा कंपनियों की ओर से दी जा रही अलग-अलग सुविधा की तुलना कर लें। और फिर तय करें कि आपकी जरूरत के हिसाब से कौन सा प्लान आपके लिए ठीक है।

एप्लीकेशन: कोई भी स्कीम लेने के समय आपको प्रपोजल फॉर्म भरना होगा। आप कोशिश करें कि फॉर्म भरते वक़्त कोई भी जानकारी गलत न जाए। हर जानकारी को आप ईमानदारी से सही सही भरें।

मेडिकल जांच: एक बार जब आप फॉर्म भर चुके होते हैं तो इंटरव्यू और फिर मेडिकल चेक-अप किया जाएगा कि फॉर्म में दी गई सभी जानकारी बिलकुल सही है। सुनिश्चित करें कि आप इस प्रक्रिया के दौरान कोई भी गलती न करें।

सेकंड ओपिनियन: यदि आप चेक-अप से संतुष्ट नहीं हैं या आपको कुछ संदेह है, तो आप हमेशा कहीं और चेक-अप करवा कर दूसरी राय ले सकते हैं। एक बार जब आप संतुष्ट हो जाते हैं तब ही आवेदन करें और प्रक्रिया पूरी करें।

Posted By: Nitesh