नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। वित्त मंत्रालय ने आम आदमी बीमा योजना (AABY) और जनश्री बीमा योजना (JBY) के विलय के लिए अनुमति दी है। इस विलय से बनी योजना का नाम आम आदमी बीमा योजना किया है, जो कि एक जनवरी 2013 से लागू है। लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (LIC) द्वारा इस योजना की पेशकश की गई है। यह अंसगठित क्षेत्रों के वर्कर्स के लिए एक लाभकारी योजना है। यह योजना ग्रामीण भूमिहीन परिवार के आशिंक और स्थायी दिव्यांगता वाले मुखिया को भी कवरेज प्रदान करती है। आइए जानते हैं कि इस योजना की खास बातें क्या हैं-

पात्रता

इस बीमा योजना का लाभ उठाने के लिए सदस्य की आयु 18 साल से 59 साल के बीच होनी चाहिए। एलआईसी की वेबसाइट के अनुसार, सदस्य परिवार का मुखिया होना चाहिए या बीपीएल परिवार का अकेला कमाऊ सदस्य या गरीबी रेखा से मामूली ऊपर भूमिहीन ग्रामीण होना चाहिए। इस योजना के तहत प्रीमियम 200 रुपये सालाना है। इसमें 30,000 का कवर मिलता है। प्रिमियम का 50 फीसद सोशल सिक्योरिटी फंड से सब्सिडाइड होता है।

आयु के सबूत के रूप में सदस्य राशन कार्ड, जन्म प्रमाण पत्र, स्कूल सर्टिफिकेट, वोटर आइडी कार्ड, सरकारी विभाग या प्रतिष्ठित एंप्लॉयर द्वारा जारी आइडी कार्ड या आधार कार्ड प्रस्तुत कर सकता है। 

ये हैं योजना के लाभ

प्राकृतिक मृत्यु: इंश्योरेंस कवर की अवधि के दौरान किसी सदस्य की मृत्यु होने पर बीमा में 30,000 रुपये की राशि नॉमिनी को दी जाएगी।

दुर्घटना में मृत्यु/ दिव्यांगता की स्थिति में: इंश्योरेंस कवर की अवधि के दौरान दुर्घटना में मृत्यु होने पर 75,000 रुपये मिलते हैं। दुर्घटना में स्थाई पूर्ण दिव्यांगता होने पर भी 75,000 रुपये मिलते हैं। वहीं, एक आंख और एक अवयव की क्षति होने पर 37,500 रुपये का भुगतान होता है।

छात्रवृत्ति लाभ

इस योजना में इंश्योरेंस के साथ ही फ्री में छात्रवृत्ति के रूप में एक अतिरिक्त लाभ भी है। योजना के अंतर्गत लाभार्थी के अधिकतम दो बच्चों के लिए नौवीं कक्षा से बारहवीं कक्षा तक 100 रुपये प्रति माह प्रति बच्चे के हिसाब से 1 जुलाई और 1 जनवरी को छात्रवृत्ति मिलती है।

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस