Move to Jagran APP

GDP Growth: गठबंधन सरकार के बावजूद बनी रहेगी विकास की तेज रफ्तार, मॉर्गन स्टेनली ने जताया भरोसा

मॉर्गन स्टेनली इंडिया के एमडी रिद्धम देसाई ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी की अगुआई में सरकार बुनियादी सुधारों को लागू करेगी जिससे भारत के आर्थिक विकास में तेजी आएगी। उन्होंने कहा कि अगर 2014 से 2019 को छोड़ दें तो भारत में 1989 से ही गठबंधन सरकार का दौर चल रहा है। रिद्धम ने भरोसा जताया कि मौजूदा सरकार पांच का कार्यकाल पूरा करने में सफल होगी।

By Jagran News Edited By: Suneel Kumar Published: Tue, 11 Jun 2024 03:25 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 03:25 PM (IST)
भारत की विकास दर 7 से 8 फीसदी के बीच बनी रहेगी।

आईएएनएस, नई दिल्ली। ग्लोबल ब्रोकरेज फर्म मॉर्गन स्टेनली (Morgan Stanley) भारत में गठबंधन सरकार बनने के बावजूद अर्थव्यवस्था को लेकर काफी आशावादी है। उसका मानना है कि गठबंधन सरकार भी नीतिगत सुधारों पर जोर बना रहेगा और देश की तरक्की की रफ्तार भी बरकरार रहेगी।

मॉर्गन स्टेनली इंडिया के एमडी रिद्धम देसाई ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी की अगुआई में सरकार बुनियादी सुधारों को लागू करेगी, जिसका भारत के आर्थिक विकास में तेजी आएगी। उन्होंने गठबंधन सरकार के सवाल पर कहा कि अगर 2014 से 2019 को छोड़ दें, तो भारत में 1989 से ही गठबंधन सरकार का दौर चल रहा है। रिद्धम ने भरोसा जताया कि मौजूदा सरकार पांच का कार्यकाल पूरा करने में सफल होगी।

मौजूदा आर्थिक नीतियां जारी रहेंगी

रिद्धम ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि सरकार की आर्थिक नीतियों में किसी तरह का बदलाव होने वाला है। सरकार का जोर मैक्रो लेवल पर स्थिरता लाने पर रहेगा। वह सप्लाई चेन बनाने पर भी काम करेगी। इन दो चीजों पर सरकार का सबसे अधिक फोकस रहेगा। भारत की विकास दर 7 से 8 फीसदी के बीच बनी रहेगी। वहीं महंगाई भी (Inflation) काबू में रहेगी।'

विदेशी निवेशक वापसी करेंगे

लोकसभा चुनाव की शुरुआत के बाद से ही फॉरेन इंस्टीट्यूशन इन्वेस्टर्स लगातार बिकवाली कर रहे हैं। इससे जुड़े सवाल ने पर रिद्धम ने कहा, 'फिलहाल मार्केट में दो बड़े खिलाड़ी हैं, पहले डोमेस्टिक इन्वेस्टर्स और दूसरे फॉरेन इन्वेस्टर्स। अभी घरेलू निवेशक खरीदारी कर रहे हैं। इस तरह के माहौल में विदेशी निवेशक चांस नहीं लेना चाहते। जैसे ही कॉर्पोरेट्स पैसा जुटाना शुरू करेंगे, विदेशी निवेशक भी मार्केट में एंट्री लेने लगेंगे। उनकी खरीदारी अगले 6 महीने में शुरू हो सकती है।'

इक्विटी म्यूचुअल फंड का इनफ्लो मई में 34,697 करोड़ रुपये हो गया। यह इससे पिछले महीने के मुकाबले 83.42 फीसदी अधिक है।

यह भी पढ़ें : Penny Stocks: मालामाल से ज्यादा कंगाल करते हैं पेनी स्टॉक, निवेश से पहले इन बातों का रखें ध्यान

 


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.