नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। अपने निवेशकों के लिए बिटक्‍वाइन, एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) की सुविधा पेश कर रहा है। बिटक्‍वाइन एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) क्रिप्टो निवेशकों के लिए एक नई अवधारणा है। आपको बताते चलें कि, ब्लॉकचेन ईटीएफ ने मुख्यधारा के बाजारों में अपनी शुरुआत कर दी है। इस महीने की शुरुआत में, इनवेस्को म्यूचुअल फंड ने घोषणा की थी कि बाजार नियामक सेबी ने इनवेस्को कॉइनशेयर ग्लोबल ब्लॉकचैन ईटीएफ एफओएफ को मंजूरी दे दी है। यह इनवेस्को एमएफ द्वारा एक फीडर फंड है और इनवेस्को कॉइनशेयर्स ग्लोबल ब्लॉकचैन यूसीआईटीएस एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) में निवेश करेगा। फंड के एनएफओ को 24 नवंबर को लॉन्च किया जाना था, लेकिन भारत में क्रिप्टोकरेंसी के नियमों के बारे में अनिश्चितता को देखते हुए कंपनी ने इसे टाल दिया है। लोग अक्सर ब्लॉकचेन ईटीएफ और बिटक्‍वाइन ईटीएफ के बीच अंतर नहीं कर पाते हैं, हालांकि ये दोनों ही अलग-अलग वित्तीय साधन हैं। आइए दोनों के बीच अंतर को समझते हैं।

ब्लॉकचैन ईटीएफ ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी के संपर्क में शेयरों में निवेश करने के लिए एक निवेश साधन है। जैसे कि, इनवेस्को, कॉइन शेयर ग्लोबल ब्लॉक चेन यूसीआटीएस ईटीएफ ने, कनाडा के बिटक्‍वाइन माइनर बिटफर्म लिमिटेड यूएस क्रिप्टो एक्सचेंज कॉइनबेस ग्लोबल और दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टो धारक माइक्रोस्ट्रेटजी में निवेश किया है। इस फंड को साल 2019 में लॉन्च किया गया था। वहीं, ब्लॉकचेन ईटीएफ की संख्या बढ़ती जा रही है, बिटक्‍वाइन ईटीएफ अपेक्षाकृत नया है। मनी लॉन्ड्रिंग को सुविधाजनक बनाने में उनकी भूमिका के कारण कई देशों में वर्चुअल करेंसी को नियामक जांच का सामना करना पड़ रहा है। एक प्रौद्योगिकी के रूप में ब्लॉकचेन पर न तो किसी नियामक एजेंसी द्वारा प्रतिबंध लगाया गया है और न ही इसकी जांच की जा रही है।

ब्लॉकचैन ईटीएफ उन कंपनियों के शेयर बाजार की कीमतों को ट्रैक करते हैं जिन्होंने अपने फंड में ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी में निवेश किया है। ब्लॉकचैन विशिष्ट स्टॉक वे हैं जिनके पास ब्लॉकचैन प्रौद्योगिकी से संबंधित संचालन या ब्लॉकचैन प्रौद्योगिकी के विकास और उपयोग से लाभ होता है। विशेषज्ञों के अनुसार, ब्लॉकचेन तकनीक उन कंपनियों को सक्षम बनाती है जो इसका उपयोग लागत कम करने और विकेंद्रीकरण के माध्यम से अपने संचालन को सरल बनाने के लिए करती हैं।

इसकी तुलना में, अमेरिकी बाजार नियामक एसईसी को अपना आवेदन जमा करने वाले अधिकांश बिटक्‍वाइन ईटीएफ ने शिकागो बोर्ड विकल्प एक्सचेंज और सीएमई समूह के माध्यम से कारोबार किए जाने वाले वायदा अनुबंधों के माध्यम से बिटक्‍वाइन की कीमत पर नजर रखने का प्रस्ताव दिया है। इस मॉडल में, ईटीएफ वायदा अनुबंधों के स्वामित्व के माध्यम से बिटक्‍वाइन की कीमत को ट्रैक करते हैं। बिटक्‍वाइन स्ट्रैटेजी के तहत पहला बिटकॉइन फ्यूचर्स ईटीएफ अक्टूबर 2021 में लॉन्च किया गया था। यह बिटक्‍वाइन फ्यूचर्स कॉन्ट्रैक्ट्स को क्रिप्टोकरेंसी के भविष्य की कीमत पर ट्रैक करता है।

Edited By: Abhishek Poddar