नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। इंजीनियरिंग सिस्टम और सॉल्यूशन बनाने वाली कंपनी यूनिपार्ट्स इंडिया के आईपीओ में पैसा लगाने का शुक्रवार को आखिरी दिन है। अब तक यूनिपार्ट्स इंडिया के आईपीओ को निवेशकों की ओर से ठीकठाक रिस्पांस मिलता नजर आ रहा है। गुरुवार तक आईपीओ दो गुना सब्सक्राइब हुआ था। आईपीओ 30 नवंबर को आम निवेशकों के लिए खुला था।

आज ही शुरू करें अपना शेयर मार्केट का सफर, विजिट करें- https://bit.ly/3n7jRhX

OFS है Uniparts India का IPO

कंपनी की योजना आईपीओ के जरिए 836 करोड़ रुपये जुटाने की है। कंपनी की ओर से आईपीओ का प्राइस बैंड 548-577 रुपये तय किया गया है। ये पूरा आईपीओ ऑफर फॉर सेल (OFS) है। इसका मतलब यह है कि इस आईपीओ में शेयर निवेशकों और मौजूदा प्रवर्तकों की ओर से बेचे जा रहे हैं।

आईपीओ के ड्राफ्ट के मुताबिक बात करें, तो 1.44 करोड़ से अधिक शेयर प्रवर्तकों और मौजूदा निवेशकों द्वारा बेचे जा रहे हैं। आईपीओ में शेयर बेचने वाले प्रमोटर्स में करण सोनी 2018 सीजी-एनजी नेवादा ट्रस्ट, मेहर सोनी 2018 सीजी-एनजी नेवादा ट्रस्ट, और पामेला सोनी का नाम शामिल हैं। वहीं, इस आईपीओ के जरिए अशोका इंवेस्टमेंट होल्डिंग्स एंड अंबादेवी मॉरीशस होल्डिंग 93 लाख शेयर बेचकर कंपनी से बाहर निकल रहे हैं।

Uniparts India IPO की लिस्टिंग

आईपीओ के शेड्यूल के मुताबिक, यूनिपार्ट्स इंडिया के शेयर के अलॉटमेंट की संभावित तारीख 7 दिसंबर है, जबकि ये शेयर 12 दिसंबर को दोनों एक्सचेंजों एनएसई और बीएसई पर लिस्ट हो सकता है।

Uniparts India की प्रोफाइल

यूनिपार्ट्स इंडिया की स्थापना 26 सितंबर,1994 को हुई थी। यह इंजीनियरिंग सिस्टम और सॉल्यूशन बनाने वाली एक वैश्विक विनिर्माण कंपनी है। कंपनी का कारोबार 25 से अधिक देशों में फैला हुआ है। यूनिपार्ट्स इंडिया कृषि और निर्माण, खनन और आफ्टरमार्केट क्षेत्रों में ऑफ-हाइवे बाजार के लिए सिस्टम और कंपोनेंट्स बनाने वाली एक लीडिंग कंपनी है।

ये भी पढ़ें-

'AAA' रेटिंग वाली सरकारी कंपनियों में पैसा लगाने का मौका, आज सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगा Bharat Bond ETF

GST कलेक्शन में तेजी कायम, नवंबर में 11 फीसद बढ़कर 1.46 लाख करोड़ रुपये हुआ जीएसटी संग्रह

 

Edited By: Abhinav Shalya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट