Move to Jagran APP

Unemployment Rate: इस वर्ष मार्च तिमाही में बेरोजगारी दर घटकर 6.7 प्रतिशत रही

डाटा के अनुसार अप्रैल-जून 2023 और जुलाई सितंबर 2023 तिमाही के दौरान बेरोजगारी दर 6.6 प्रतिशत थी। अक्टूबर-दिसंबर 2023 के दौरान यह घटकर 6.5 प्रतिशत रह गई थी। पीएलएफएस डाटा के अनुसार इस वर्ष जनवरी-मार्च के दौरान शहरी क्षेत्र में 15 वर्ष या इससे ज्यादा उम्र की महिलाओं के बीच बेरोजगारी दर घटकर 8.5 प्रतिशत रही है जो 2023 के दौरान समान अवधि में 9.2 प्रतिशत थी।

By Agency Edited By: Praveen Prasad Singh Wed, 15 May 2024 08:20 PM (IST)
Unemployment Rate: इस वर्ष मार्च तिमाही में बेरोजगारी दर घटकर 6.7 प्रतिशत रही
जनवरी-मार्च 2023 के दौरान बेरोजगारी दर 6.8 प्रतिशत थी- बीती तिमाही के दौरान श्रम बल भागीदारी दर 50.2 प्रतिशत रही।

पीटीआई, नई दिल्ली। जनवरी-मार्च 2024 यानी मार्च तिमाही के दौरान शहरी क्षेत्र में 15 वर्ष या इससे ज्यादा उम्र के लोगों के बीच बेरोजगारी दर घटकर 6.7 प्रतिशत रही है, जो पिछले वर्ष समान अवधि में 6.8 प्रतिशत थी। नेशनल सैंपल सर्वे आफिस (एनएसएसओ) ने 22वें आवधिक श्रम बल सर्वे (पीएलएफएस) के डाटा के हवाले से यह जानकारी दी है। बेरोजगारी दर के रूप में कुल श्रम बल में बेरोजगार लोगों को परिभाषित किया गया है।

डाटा के अनुसार, अप्रैल-जून 2023 और जुलाई सितंबर 2023 तिमाही के दौरान बेरोजगारी दर 6.6 प्रतिशत थी। अक्टूबर-दिसंबर 2023 के दौरान यह घटकर 6.5 प्रतिशत रह गई थी। पीएलएफएस डाटा के अनुसार, इस वर्ष जनवरी-मार्च के दौरान शहरी क्षेत्र में 15 वर्ष या इससे ज्यादा उम्र की महिलाओं के बीच बेरोजगारी दर घटकर 8.5 प्रतिशत रही है, जो 2023 के दौरान समान अवधि में 9.2 प्रतिशत थी। अप्रैल-जून 2023 में यह 9.1 प्रतिशत, जुलाई-सितंबर 2023 में 8.6 प्रतिशत और अक्टूबर-दिसंबर 2023 में 8.6 प्रतिशत थी।

इसी तरह, शहरी क्षेत्र में 15 वर्ष या इससे ज्यादा उम्र के पुरुषों में जनवरी-मार्च 2024 के दौरान बेरोजगारी दर 6.1 प्रतिशत रही है। पिछले वर्ष समान अवधि में यह 6 प्रतिशत थी। अप्रैल-जून 2023 के दौरान यह 5.9 प्रतिशत, जुलाई-सितंबर 2023 के दौरान छह प्रतिशत और अक्टूबर-दिसंबर 2023 के दौरान 5.8 प्रतिशत थी। जनवरी-मार्च 2024 के दौरान श्रम बल भागीदारी दर 50.2 प्रतिशत रही है जो पिछले वर्ष समान अवधि में 48.5 प्रतिशत थी। एनएसएसओ ने अप्रैल 2017 में पीएलएफएस लांच किया था।