नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। बुधवार को Share market की शुरुआत शानदार रही। Bse का मेन इंडेक्‍स Sensex 52651 अंक पर खुला। इसके बाद 102 अंक ऊपर चला गया। Maruti, Titan समेत डेढ़ दर्जन शेयरों में तेजी देखी गई। वहीं Nifty 50 भी 35 अंक ऊपर 15783 अंक पर पहुंच गया।

इससे पहले मंगलवार को निवेशकों की मुनाफावसूली के बीच शेयर बाजारों में लगातार दूसरे कारोबारी सत्र में गिरावट रही थी। कई देशों में Covid 19 संक्रमण के मामले बढ़ने के बीच निवेशक वैश्विक बाजारों में सतर्कता भरे माहौल में जोखिम वाली संपत्तियों में अपना निवेश घटा रहे हैं। कारोबारियों ने कहा कि रुपये में कमजोरी और सरकार के नए प्रोत्साहन पैकेज के वित्तीय प्रभाव से भी बाजार धारणा प्रभावित हुई।

इन शेयरों में तेजी

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 185.93 अंक या 0.35 प्रतिशत के नुकसान से 52,549.66 अंक पर आ गया। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 66.25 अंक या 0.42 प्रतिशत टूटकर 15,748.45 अंक पर आ गया। सेंसेक्स की कंपनियों में Kotak bank का शेयर सबसे ज्यादा 1.54 प्रतिशत टूट गया। ICICI बैंक, टेक महिंद्रा, बजाज ऑटो, एक्सिस बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, एसबीआई तथा मारुति के शेयर भी नुकसान में रहे। वहीं पावरग्रिड, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एनटीपीसी, डॉ. रेड्डीज, नेस्ले इंडिया और इंडसइंड बैंक के शेयर 1.75 प्रतिशत तक चढ़ गए।

शेयर बाजार में कमजोरी

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि सरकार के दबाव वाले क्षेत्रों को उबारने के लिए प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा के बावजूद स्थानीय शेयर बाजारों में कमजोरी का रुख रहा। नायर ने कहा कि बाजार में व्यापक बिकवाली के बीच सरकार के समर्थन की वजह से स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के शेयर सकारात्मक दायरे में रहे।

राजकोषीय घाटा बढ़ेगा

SBI रिसर्च की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि महामारी से प्रभावित क्षेत्रों को राहत के लिए सरकार ने ऋण सुविधा की जो पेशकश की है उससे राजकोषीय घाटा 0.60 प्रतिशत बढ़ेगा। इसके साथ ही बैंकों के पास 70,000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त तरलता सुविधा उपलब्ध होगी। रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने कहा कि वित्तीय, वाहन और धातु कंपनियों में मुनाफावसूली से बाजार नीचे आया। वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख से भी धारणा प्रभावित हुई।

Edited By: Ashish Deep