नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। SBI YONO ने हाल ही में एक नया नियम लागू किया है, जिसकी जानकारी ग्राहकों को होनी चाहिए। दरअसल, पिछले एक साल में नेटबैंकिंग लेनदेन में भारी उछाल आया है, लेकिन इसके साथ ही कई फ्रॉड की समस्याएं भी आई हैं। बैंक ने कहा है कि योनो ऐप का नया वर्जन नए सिक्योरिटी फीचर्स के साथ आ रहा है। जो ग्राहक योनो ऐप में लॉग इन करना चाहते हैं, वे रजिस्टर्ड मोबाइल फोन नंबर का इस्तेमाल कर ऐसा कर सकते हैं। YONO के नए रजिस्ट्रेशन के लिए बैंक ने कहा है कि ग्राहकों को उसी मोबाइल नंबर का इस्तेमाल करना होगा जो बैंक में रजिस्टर्ड है।

SBI ने एक ट्वीट में कहा, 'YONO SBI के साथ सुरक्षित बैंकिंग! YONO SBI अपनी सुरक्षा सुविधाओं को बढ़ा रहा है। नया अपग्रेड योनो SBI को केवल उसी फोन से एक्सेस करने की अनुमति देगा, जिसके पास बैंक के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर है।'

SBI YONO के लिए सबसे बड़ा खतरा यह है कि फ्रॉड करने वाले अक्सर ग्राहकों के यूजर नेम, पासवर्ड और अन्य पर्सनल जानकारी, बैंक खाते के डिटेल को धोखे से प्राप्त कर लेते हैं और फिर वे उसी का उपयोग अपने मोबाइल से लॉग इन करने के लिए करते हैं।

हालांकि, अब SBI YONO के नए नियम लागू करने के बाद अगर यूजर्स अपने रजिस्टर्ड मोबाइल फोन से लॉग इन करते हैं, तो फ्रॉड की संभावना बहुत कम हो जाती है। हालांकि, कुछ लोगों को इसमें असुविधा लगेगी लेकिन, ऐसा करना फायदेमंद है। मौजूदा समय में SBI की इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग का उपयोग करने वाले ग्राहकों की संख्या क्रमशः 8 करोड़ 90 लाख मिलियन और 2 करोड़ है।

 

Edited By: Nitesh