नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। कोरोना संकट के इस काल में देशवासियों को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाने के लिए रेलवे तमाम एहतियात के साथ काम करने लगा है। भारतीय रेलवे विभिन्न मार्गों पर रेलगाड़ियों का परिचालन कर रहा है। रेलवे ने वक्त की जरूरत को समझते हुए तमाम तरह के बदलाव किए है। इसी कड़ी में रिजर्वेशन फॉर्म में भी परिवर्तन किया गया है। इसका लक्ष्य हर यात्री के बारे में अधिक-से-अधिक जानकारी प्राप्त करना है ताकि जरूरत पड़ने पर यात्रियों से आसानी से सम्पर्क किया जा सके। 

(यह भी पढेंः Air India की अमेरिका, यूरोप की फ्लाइट्स के टिकटों की भारी डिमांड, एयरलाइन ने दी जानकारी)

अब टिकट बुक कराने के लिए यह जानकारी देना हो गया है जरूरी

अगर आपने लंबे समय से अपने आइआरसीटीसी अकाउंट में लॉग-इन नहीं किया है तो आपके लिए यह जानना जरूरी है कि लॉग-इन करते समय आपके मोबाइल नंबर और इमेल आइडी को वेरिफाई करने के लिए कहा जा सकता है। साथ ही मोबाइल नंबर और इमेल आइडी के पहले से वेरिफाई नहीं होने की स्थिति में भी आपको ऐसा करने के लिए कहा जा सकता है।  

अब बात करते हैं टिकट बुकिंग के फॉर्म की। रेलवे ने टिकट बुकिंग के फॉर्म में कुछ जरूरी बदलाव किए है, जो ऑनलाइन बुकिंग के साथ-साथ काउंटर से बुकिंग कराने पर भी लागू होगा। अब आपको टिकट रिजर्व कराते समय गंतव्य से जुड़ी पूरा पता भरना होगा। मसलन, पता, पिन कोड, शहर, जिला और राज्य। इसका लक्ष्य जरूरत पड़ने पर यात्रियों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग को सरल बनाना है। 

टिकट बुक करते समय पूरा नाम लिखना हुआ जरूरी

इसके साथ ही IRCTC से टिकट बुक करते समय आपको यात्री का पूरा नाम लिखने को कहा जा रहा है। उदाहरण के लिए लोग पहले सिर्फ पहला अक्षर और उपनाम लिखकर भी टिकट बुक कर लेते थे। हालांकि, काउंटर से टिकट बुक कराते समय पूरा नाम लिखना जरूरी था। अब इसे ऑनलाइन बुकिंग के लिए भी अनिवार्य कर दिया गया है। 

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस