Move to Jagran APP

Pan Card Misuse: सुरक्षित रखें अपना पैन कार्ड वरना पड़ेंगे लेने के देने, तेजी से बढ़ रहा ये स्कैम

Pan Card हमारे लिए एक अहम डॉक्यूमेंट में गिना जाता है। ऐसे में इसकी सुरक्षा हमारी अहम जरूरत है। हाल ही में एक नया घोटाला सामने आया है जिसमें स्कैमर्स सीनियर सिटीजन और मरे हुए लोगों का पैन तैयार करके आपका गलत इस्तेमाल कर रहे हैं। यहां हम आपको बताएंगे कि आप कैसे पता करें कि कहीं आपके कार्ड का भी गलत इस्तेमाल तो नहीं हो रहा है।

By Ankita Pandey Edited By: Ankita Pandey Tue, 25 Jun 2024 04:30 PM (IST)
पैन कार्ड स्कैम से सुरक्षित रहना है तो कर लें ये जरूरी काम

बिजनेस डेस्क, नई दिल्ली। आपका पैन (पर्मानेंट अकाउंट नंबर ) कार्ड भारत में एक जरूरी सरकारी पहचान पत्र है। पैन को आधार और बैंक खातों से जोड़ने की जरूरत वाले हाल के नियम सुविधा देते हैं, लेकिन स्कैमर्स द्वारा इसका फायदा उठा रहे हैं। हाल ही में आई जानकारी से पता चला है कि कई ऐसे पैन कार्ड है, जो फर्जी है और इसका गलत इस्तेमाल हो रहा है।

इसके अलावा 2018 में इंडियास्पेंड द्वारा किए गए सर्वे में पैन और आधार से जुड़े बैंक धोखाधड़ी में बढ़ोतरी का पता चला है। इन डॉक्यूमेंट को जोड़ने से जुड़े कई आपराधिक मामले सामने आए हैं। हाल ही में एक बिमार और वृद्ध महिला को लाखों के टैक्स के चक्कर में फंसाया गया है। आइये इस समस्या और उपाय के बारे में जानते है।

PAN Card का गलत इस्तेमाल

  • आधार की तरह अब पैन के दुरुपयोग की घटनाएं भी तेजी से बढ़ रही हैं। इसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल अनाधिकृत लोन में किया जाता है।
  • स्कैमर्स आपका पैन चुरा सकते हैं और धनी ऐप जैसी सेवाओं का उपयोग करके आपके नाम पर लोन पा सकते हैं।
  • इससे आप पर न केवल वित्तीय बोझ बढ़ता है, बल्कि आपके CIBIL स्कोर को भी नुकसान पहुंचता है, जिससे आपकी बेस प्रभावित होता है।

कैसे करें पहचान?

अब सबसे बड़ी समस्या आती है कि इस तरह के घोटाले को कैसे पहचाना जाएं। PAN के दुरुपयोग का पता लगाने का सबसे अच्छा तरीका नियमित रूप से अपने क्रेडिट स्कोर की जांच करना है। यहां बताया गया है कि आप अपना क्रेडिट स्कोर कैसे जांच सकते हैं।

  • TransUnion CIBIL, Equifax, Experian, Paytm, Bank Bazaar या CRIF High Mark जैसी क्रेडिट ब्यूरो वेबसाइट पर जाएं।
  • इसके बाद 'चेक क्रेडिट स्कोर' विकल्प ढूंढ़ें।
  • अब अपना विवरण (नाम, जन्म तिथि, ईमेल, मोबाइल नंबर और PAN) दर्ज करें और अपने मोबाइल नंबर को वन-टाइम पासवर्ड (OTP) से वेरिफाई करें।
  • अपना क्रेडिट स्कोर एक्सेस करें और अपने नाम पर लिस्टेड किसी भी लोन की समीक्षा करें।

यह भी पढ़ें-  Investment Option: क्‍या होता है SIP, SWP और STP, किसमें है ज्यादा का फायदा

पैन धोखाधड़ी के सामान्य तरीके

  • धोखेबाज आपके नाम पर क्रेडिट कार्ड और लोन के लिए आवेदन करने के लिए आपका पैन चुरा सकते हैं।
  • वे आपके पैन का उपयोग आभूषण खरीद करने के लिए कर सकते हैं।
  • वाहन या होटल के कमरे किराए पर ले सकते हैं और अप्रमाणित किराए पर लेने से पैन का दुरुपयोग हो सकता है।

कैसे करें रिपोर्ट

आयकर विभाग आयकर संपर्क केंद्र (ASK) वेबसाइट के माध्यम से पैन शिकायत दर्ज करने के लिए एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म देता है। आप आसानी से शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आधिकारिक TIN NSDL पोर्टल पर जाएं और होमपेज पर कस्टमर सर्विस सेक्शन खोजें।
  • यहां शिकायत की प्रकृति का विवरण देते हुए सटीक जानकारी के साथ फॉर्म भरें।
  • इसके बाद कैप्चा कोड दर्ज करें और 'सबमिट' पर क्लिक करें।
  • कैसे रहे सुरक्षित
  • हर वेबसाइट पर अपना पैन दर्ज करने से बचें। अपनी जानकारी साझा करने से पहले वेबसाइट की वैलिडिटी की पुष्टि करें।
  • ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी या आधार कार्ड (यदि पैन से लिंक करना अनिवार्य नहीं है) जैसे वैकल्पिक पहचान प्रमाण चुनें।
  • पैन फोटोकॉपी केवल विश्वसनीय संस्थाओं को ही जमा करें। हमेशा उन पर हस्ताक्षर करें और तारीख डालें, और उन्हें कहां जमा करते हैं, इसका रिकॉर्ड रखें।
  • असत्यापित ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर अपना पूरा नाम और जन्म तिथि साझा करने से बचें। इस डेटा का उपयोग आपके पैन को ट्रैक करने के लिए किया जा सकता है।
  • अगर यह अनिवार्य नहीं है तो अपने आधार को बैंक खातों से डी-लिंक करें।

यह भी पढ़ें- ITR for Deceased: मृत करदाता का भी भरना होता है आइटीआर, यहां जानें इस सवाल का जवाब