नई दिल्ली, पीटीआइ। सार्वजनिक क्षेत्र की टेलीकॉम कंपनी MTNL ने अपने कर्मचारियों को मार्च तक का लंबित वेतन दे दिया है। कंपनी का ध्यान अब परिसंपत्तियों की बिक्री के जरिए कर्ज के निपटारे पर है। MTNL के एक शीर्ष अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी। इसी बीच, BSNL ने अपने कर्मचारियों को फरवरी तक के वेतन का भुगतान कर दिया है और कंपनी को अभी मार्च महीने की सैलरी का भुगतान करना है।  

MTNL के 14,378 कर्मचारियों के स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने के बाद कंपनी के वेतन पर होने वाले खर्च में 60 फीसद की कमी आई है। कंपनी फिलहाल 4,000 कर्मचारियों के साथ दिल्ली और मुंबई में अपनी सेवाएं दे रही है।

MTNL के चेयरमैन और प्रबंध निदेश सुनील कुमार ने कहा, ''हमने मार्च तक के वेतन का भुगतान कर दिया है और लीव इनकैशमेंट से जुड़े सभी बकाये का भी भुगतान कर दिया गया है। मार्च में 190 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ। इसमें से 30 करोड़ रुपये हमने वेतन के भुगतान में खर्च किया है।'' 

उन्होंने कहा कि वीआरएस लेने वाले सभी कर्मचारियों को अनुग्रह राशि की पहली किस्त दे दी गई है, जिस पर 804 करोड़ रुपये खर्च हुआ। कंपनी दी गई समयसीमा में शेष 50 फीसद राशि का भुगतान कर देगी।  

कुमार ने कहा कि अब कंपनी के समक्ष बड़ा मुद्दा कर्ज का निपटारा रह गया है। कंपनी फिलहाल परिसंपत्तियों की बिक्री के जरिए इस मुद्दे को सुलझाने की दिशा में काम कर रही है और कारोबार के विस्तार पर भी कंपनी का ध्यान है। 

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक एमटीएनएल पर 20,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। एमटीएनएल की ओर से इस समय दी गई यह जानकारी काफी राहत भरी है क्योंकि देश और दुनिया की अर्थव्यवस्था कोरोनवायरस महामारी की वजह से जूझ रही है। 

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस