नई दिल्ली: आर्थिक आजादी सूचकांक में भारत 10 पायदान फिसलकर 112वें स्थान पर आ गया है। यह जानकारी वैश्विक आर्थिक आजादी-2016 की सालाना रिपोर्ट में सामने आई है। इसमें करीब 159 देशों के बीच किए गए अध्ययन में हमारे पड़ोसी देश चीन, बांग्लादेश और पाकिस्तान हमसे भी पीछे हैं और वो इस सूचकांक में क्रमश: 113वें, 121वें और 133वें पायदान पर हैं। वहीं इस सूचकांक में भूटान 78वें, नेपाल 108वें और श्रीलंका 111वें स्थान पर रहा।

कई श्रेणियों में खराब रहा भारत का प्रदर्शन:
इस रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई है कि कई श्रेणियों में भारत का प्रदर्शन खराब रहा है। मसलन कानूनी प्रणाली एवं संपत्ति का अधिकार (86वां), स्वस्थ मुद्रा (130वां), अंतरराष्ट्रीय स्तर पर व्यापार की आजादी (144वां) और नियमन (132वां)। हालांकि सरकार के आकार के मामले में भारत का प्रदर्शन थोड़ा बेहतर रहा है। इस मामले में वह आठवें स्थान पर रहा है।

आर्थिक आजादी के मामले में हांगकांग शीर्ष पर:
आर्थिक आजादी के मामले पर आए इस सूचकांक में हांगकांग शीर्ष पर रहा। उसके बाद सिंगापुर, न्यूजीलैंड, स्विटजरलैंड, कनाडा, जार्जिया, आयरलैंड, मॉरिशस, यूएई, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन का नंबर आता है।

फिसड्डी रहे ये देश:
वहीं इस सूचकांक में जो देश निचले स्थान पर रहे उनके नाम ईरान, अल्जीरिया, चाड, गिनी, अंगोला, सेंट्रल अफ्रीकन रिपब्लिक, अर्जेंटीना, कांगो गणराज्य, लीबीया और वेनेजुएला है। गौरतलब है कि भारत के प्रमुख नीति शोध संस्थान सेंटर फॉर सिविल सोसायटी ने यह रिपोर्ट कनाडा के फ्रेजर इंस्टि्टयूट के साथ सहयोग से प्रकाशित की है। यह 2014 के आंकड़ों पर आधारित है।

Posted By: MMI Team

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप