नई दिल्ली, आइएएनएस। गूगल ने अपने कर्मचारियों को 6 जुलाई से धीरे-धीरे चरणबद्ध तरीके से ऑफिस लौटाने का निर्णय लिया है। साथ ही गूगल ने विश्वभर में अपने प्रत्येक कर्मचारी को 1,000 डॉलर (करीब 75,000 रुपये) देने की भी घोषणा की है। गूगल यह राशि कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम के दौरान आवश्यक उपकरणों पर हुए खर्च के लिए देगा। अल्फाबेट और गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने कहा कि कंपनी छह जुलाई से कई शहरों में और अधिक कार्यालयों को खोलने का काम शुरू करेगी।

यह भी पढ़ें: सोने-चांदी की वायदा कीमतों में आई अच्छी-खासी गिरावट, वैश्विक कीमतें भी लुढ़कीं, जानिए भाव

गूगल के सीईओ पिचाई के अनुसार, अगर परिस्थितियां अनुकूल रहीं, तो गूगल रोटेशन सिस्टम को आगे बढ़ाते हुए सितंबर तक 30 फीसद ऑफिस क्षमता प्राप्त कर लेगा। पिचाई ने कहा, 'हमें अब भी यह अनुमान है की बड़ी संख्या में गूगलर्स साल के बाकी हिस्से में भी वर्क फ्रॉम होम को ही चुनेंगे, इसलिए हमने प्रत्येक गूगलर्स को 1,000 डॉलर या कर्मचारी के देश में इसके बराबर रकम भत्ते के रूप में देने का निर्णय लिया है। यह राशि आवश्यक उपकरण और ऑफिस फर्नीचर के खर्च के लिए है।'

यह भी पढ़ें: BPCL ने लॉन्च की WhatsApp के जरिए रसोई गैस की बुकिंग की सुविधा, कर सकेंगे ऑनलाइन पेमेंट

पिचाई के अनुसार, इस साल के शेष समय में सीमित संख्या में कर्मचारियों की आवश्यकता ऑफिस में काम करने के लिए है। उन्होंने कहा, 'अगर आपको ऑफिस से काम करने की आवश्यकता है, तो आपका प्रबंधक आपको 10 जून तक बता देगा। बाकी सभी के लिए वर्ष के अंत तक कार्यलयों में लौटना स्वैच्छिक होगा। हम आपको घर से ही काम जारी रखने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।'

गूगल के कई कर्मचारियों ने ऑफिस लौटने की इच्छा जताई है। जबकि कई ने वर्क फ्रॉम होम करते हुए अपने परिजनों के पास रहने के लिए अस्थाई रूप से लोकेशन बदलने के बारे में कहा है। पिचाई ने कर्मचारियों को बताया कि कंपनी ने शारीरिक दूरी और सैनिटाइजेशन जैसे दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए स्वास्थ्य और सुरक्षा के कड़े उपाय किये हैं। इसलिए कर्मचारी पहले की तुलना में अपने ऑफिस को काफी अलग महसूस करेंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस