नई दिल्ली, पीटीआइ। रिटायरमेंट फंड बॉडी EPFO ने अप्रैल-जून में 73.58 लाख सब्सक्राइबर्स के केवाईसी डिटेल्स को अपडेट किया। केवाईसी अपडेशन से कोई भी सदस्य मेंबर पोर्टल के जरिये ऑनलाइन सेवाओं का लाभ उठा सकता है। इससे एक ग्राहक हाल ही में शुरू की गई COVID-19 एडवांस प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (पीएमजीकेवाई) के तहत ऑनलाइन तरीके से फाइनल विदड्रा के लिए आवेदन कर सकता है।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि COVID-19 महामारी को देखते हुए अपनी ऑनलाइन सेवाओं की उपलब्धता और पहुंच को बढ़ाने के लिए EPFO ​​ने अप्रैल से जून 2020 के दौरान अपने 73.58 लाख ग्राहकों के लिए नो योर कस्टमर (KYC) डेटा को अपडेट किया है। इसमें 52.12 लाख ग्राहकों के लिए आधार सीडिंग, 17.48 लाख ग्राहकों के लिए मोबाइल सीडिंग (यूएएन एक्टिवेशन) और 17.87 लाख ग्राहकों के लिए बैंक अकाउंट सीडिंग शामिल है। दरअसल, केवाईसी एक प्रोसेस है जो केवाईसी डिटेल के साथ यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) को जोड़ने के माध्यम से ग्राहकों के पहचान सत्यापन में मदद करती है।

कोई भी केवाईसी सदस्य डेस्कटॉप के माध्यम से या उमंग ऐप के माध्यम से सभी ऑनलाइन सेवाओं का लाभ उठा सकता है। इसके अलावा, केवाईसी सीडिंग को इतने बड़े पैमाने पर सक्षम बनाने के लिए, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने लॉकडाउन फेज के दौरान भी ग्राहकों के डिटेल को सुधारने के लिए बड़े पैमाने पर काम किया है। इसके परिणामस्वरूप 9.73 लाख नाम सुधार, 4.18 लाख जन्मतिथि और 7.16 लाख आधार संख्या सुधार अप्रैल-जून 2020 के दौरान हुए।

COVID-19 महामारी के दौरान कार्यालय में सामाजिक भेदभाव न हो इसके लिए EPFO ​​ने KYC खातों के समयबद्ध अपडेशन के लिए वर्क फ्रॉम होम रणनीति अपनाई थी। घर से काम करने वाले कर्मचारियों को केवाईसी को अपडेट करने और डिटेल को सुधारने का काम सौंपा गया था।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस