नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) स्‍कीम में सदस्‍यों की संख्‍या तेजी से बढ़ रही है। इस सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत सितंबर में करीब 13.37 लाख नए सदस्य जुड़े। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक ईएसआईसी के साथ जुड़ने वाले नए कर्मचारियों की संख्या सितंबर में 13.37 लाख रही। अगस्त में यह आंकड़ा 13.42 लाख कर्मचारियों का था। इसके पहले जुलाई में भी ईएसआईसी योजना से 13.40 लाख नए कर्मचारी जुड़े थे।

इन आंकड़ों को देश में संगठित क्षेत्र के बेहतर होते रोजगार परिदृश्य के रूप में देखा जा रहा है। खास तौर पर कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर कमजोर पड़ने के बाद संगठित रोजगार में सुधार होना एक राहत की बात है। एनएसओ ईएसआईसी, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) और पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) की विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के सदस्य बनने वाले नए सदस्यों की संख्या के आधार पर अपनी रिपोर्ट तैयार करता है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक सितंबर महीने में ईपीएफओ के पास 15.41 लाख नए पंजीकरण हुए जो अगस्त के 13.60 लाख से अधिक है। सितंबर 2017 से लेकर सितंबर 2021 के दौरान करीब 4.71 करोड़ नए सदस्य ईपीएफ योजना से जुड़ चुके हैं। हालांकि एनएसओ का यह मानना है कि कई स्रोतों से आंकड़े जुटाए जाने के कारण नए सदस्यों की संख्या में दोहराव होने की गुंजाइश रहती है।

क्‍या है ESIC योजना

कर्मचारी राज्य बीमा योजना (ईएसआई) भारत सरकार के श्रम और रोजगार मंत्रालय के एक प्रभाग, कर्मचारी राज्य बीमा निगम के तत्वावधान में विश्व स्तर पर सबसे बड़ी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं में से एक है। ईएसआई लगभग 13 करोड़ भारतीयों को प्राथमिक रूप से बीमारी लाभ और कुछ अन्य लाभ प्रदान करता है जिसमें बीमित कर्मचारी और उनके आश्रित शामिल हैं।

क्‍या है योग्‍यता

विकलांग कर्मचारियों के लिए ईएसआईसी योजना के तहत कवरेज के लिए मासिक वेतन सीमा 25000 रुपये प्रति माह है। अन्य मामलों में 21,000 रुपये है। ग्राहक आधार तेजी से बढ़ रहा है, हर महीने लाखों नए कर्मचारी श्रम बाजार में शामिल होते हैं और ईएसआईसी योजना के सदस्य बनते हैं।

(Pti इनपुट के साथ)

Edited By: Ashish Deep