नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। आरकॉम (रिलायंस कम्युनिकेशंस) के दीवालिया अर्जी दिए जाने के बाद अनिल धीरुभाई अंबानी समूह की अन्य कंपनियों के बुरे दिन शुरू हो गए हैं। अनिल धीरुभाई अंबानी समूह की कंपनियों के बाजार पूंजीकरण में इस महीने करीब 12,600 करोड़ रुपये की कमी आने के बाद कर्जदाताओं ने गिरवी रखे गए शेयरों की बिक्री शुरू कर दी है।

न्यूज वायर ब्लूमबर्ग ने स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी के हवाले से बताया है कि कर्जदाताओं ने रिलायंस पावर, रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर, रिलायंस कम्युनिकेशंस और रिलायंस कैपिटल के 5.5 अरब शेयरों की बिक्री कर दी है।

रिलायंस कम्युनिकेशंस के दीवालिया अर्जी दिए जाने के बाद समूह की अन्य कंपनियों पर निवेशकों का भरोसा कम होता दिख रहा है। इन चार कंपनियों की शेयरों की बिक्री का असर समूह की अन्य कंपनियों पर भी पड़ा है।

इस हफ्ते रिलायंस कम्युनिकेशंस के शेयरों की जबरदस्त पिटाई के बाद कंपनी का बाजार पूंजीकरण जहां 60 फीसद से अधिक तक कम हो चुका है, वहीं रिलायंस पावर और रिलायंस इन्फ्रा के शेयरों में करीब 60 फीसद तक गिरावट आई है। रिलायंस कैपिटल के शेयर में इस हफ्ते 30 फीसद से अधिक की गिरावट आई है।

यह भी पढ़ें:  ऐतिहासिक घाटे के बाद क्रैश हुआ टाटा मोटर्स का शेयर, 26 सालों बाद इंट्रा डे में सबसे बड़ी गिरावट

Posted By: Abhishek Parashar