नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने रिटेल टर्म डिपॉजिट (फिक्स्ड डिपॉजिट) की दरों को बढ़ा दिया है। बैंक ने कुल 9 अवधियों के लिए कराये जाने वाले फिक्स्ड डिपॉजिट में 0.10 से 0.50 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की है। एसबीआई ने ये दरें 1 करोड़ से कम की जमा पर बढ़ाई हैं। नई ब्याज दरें आज से लागू हो गई हैं। गौरतलब है कि इससे पहले 30 जनवरी को स्टेट बैंक ने 1 करोड़ से ज्यादा की जमा पर ब्याज दरों में 50 से 140 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की थी।

क्या होते हैं टर्म डिपॉजिट

टर्म डिपॉजिट एक दम फिक्स्ड डिपॉजिट जैसे ही होते हैं। अंतर सिर्फ इतना होता है कि 3 महीने या उससे कम समय की अवधि के लिए जमा की गई राशि को टर्म डिपॉजिट और 6 महीने या उससे अधिक समय के लिए निवेश की गई राशि को फिक्स्ड डिपॉजिट यानी एफडी बोलते हैं। टर्म डिपॉजिट दरअसल उन निवेशकों के लिए होता है जो अपनी पूंजी पर बिना रिस्क लिए कम समय में अच्छा रिटर्न पाना चाहते हैं। टर्म डिपॉजिट कुछ दिनों से लेकर कुछ महीनों तक का हो सकता है।

जानिए कौन सा बैंक दे रहा है फिक्स्ड डिपॉजिट पर सबसे ज्यादा ब्याज: देश में निजी क्षेत्र के बैंक और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक दोनों ही अपने कस्टमर्स को अलग अलग ब्याज दरें मुहैया करवाते हैं आप अपनी सुविधानुसार इनका चयन कर सकते हैं।

एक साल से ऊपर के फिक्स्ड डिपॉजिट पर ये बैंक देते हैं इतना ब्याज:

By Praveen Dwivedi