नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। किसान क्रेडिट कार्ड छोटे किसानों की मदद करने के लिए सरकार की एक सबसे अहम और लोकप्रिय योजना है। भारत सरकार किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) रखने वाले छोटे किसानों को बिना गारंटी के 1.6 लाख रुपये तक केसीसी लोन देती है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, किसान तीन सालों में पांच लाख रुपये तक का केसीसी लोन ले सकते हैं। केसीसी लोन पर ब्याज दर भी बहुत कम है। यह केवल चार फीसद सालाना है। किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा लेने के लिए किसान को पीएम किसान सम्मान निधि योजना में अकाउंट खुलवाना जरूरी होता है।

यह भी पढ़ें: सोने-चांदी की वायदा कीमतों में आई अच्छी-खासी गिरावट, वैश्विक कीमतें भी लुढ़कीं, जानिए भाव

किसान क्रेडिट कार्ड की वैधता पांच साल की होती है। खास बात यह है कि सभी केसीसी लोन्स फसल बीमा योजना के अंदर कवर होते हैं। केंद्र सरकार ने कहा है कि वह करीब 2.5 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड बांटने जा रही है। यहां छोटे किसानों को केसीसी के लाभ और सस्ते केसीसी लोन के बारे में जागरूक करना भी बहुत आवश्यक है। किसान क्रेडिट कार्ड के लिए ऑनलाइन भी आवेदन किया जा सकता है। इसकी प्रक्रिया निम्न है।

स्टेप 1. सबसे पहले किसान को पीएम किसान सम्मान निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाना होगा।

स्टेप 2. यहां से किसान क्रेडिट कार्ड फॉर्म डाउनलोड करना होगा।

स्टेप 3. इस फॉर्म को जमीन के कागजात, फसल की जानकारी आदि के साथ भरना होगा।

स्टेप 4. यहां किसान को यह घोषणा करनी होगी कि उसने किसी दूसरे बैंक या ब्रांच से कोई दूसरा अन्य किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनवाया हुआ है।

स्टेप 5. इस एप्लीकेशन को जमा करवाना होगा। इसके बाद आपको संबंधित बैंक से किसान क्रेडिट कार्ड जारी हो जाएगा।

किसान क्रेडिट कार्ड को को-ऑपरेटिव बैंक और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (RRB) से लिया जा सकता है। साथ ही इस कार्ड को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया और आईडीबीआई बैंक के अलावा नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) से भी लिया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: Gold Rate On 27 May सोने की वैश्विक व घरेलू वायदा कीमतों में भारी गिरावट, चांदी भी फिसली, जानिए क्या हैं भाव

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस