नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। HDFC Rate Hike: रिजर्व बैंक द्वारा रेपो रेट में बढ़ोतरी के बाद निजी क्षेत्र के प्रमुख फाइनेंसर एचडीएफसी ने अपनी लेंडिग रेट में बढ़ोतरी कर दी है। मुद्रास्फीति पर काबू पाने के लिए बेंचमार्क ब्याज दर बढ़ाने के बाद किसी वित्तीय संस्था द्वारा की जाने वाले यह पहली बढ़ोतरी है।

एचडीएफसी लिमिटेड (HDFC Limited) ने शुक्रवार को उधार देने की अपनी दर में 50 आधार अंकों की वृद्धि कर दी है। इससे एचडीएफसी हाउसिंग लोन (HDFC Housing Loan) की ईएमआई बढ़ जाएगी।

देश की सबसे बड़ी हाउसिंग फाइनेंस कंपनी ने कहा कि एचडीएफसी हाउसिंग लोन पर अपनी रिटेल प्राइम लेंडिंग रेट (आरपीएलआर) को बढ़ा रहा है।  एडजस्टेबल रेट होम लोन (एआरएचएल) को 50 बेसिस पॉइंट्स की बढ़ोतरी के समान लाया जा रहा है। पिछले पांच महीनों में एचडीएफसी द्वारा की गई यह सातवीं वृद्धि है।

बैंक और वित्तीय संस्थाएं बढ़ाएंगे ब्याज

आरबीआई द्वारा शुक्रवार को प्रमुख ब्याज दर में 50 आधार अंकों की बढ़ोतरी के बाद अन्य वित्तीय संस्थानों और बैंकों द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी की उम्मीद है।

रेपो रेट में 50 बेसिस पॉइंट्स का इजाफा

मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने आज अपनी बैठक में liquidity adjustment facility (LAF) के तहत पॉलिसी रेपो दर को 50 आधार अंक बढ़ाकर 5.90 प्रतिशत करने का निर्णय लिया है। आपको बता दें कि मई में रेपो दर में 40 बेसिस पॉइंट्स की अप्रत्याशित वृद्धि के बाद जून और अगस्त महीने में आरबीआइ ने 50 -50 आधार अंकों की वृद्धि की है। इस तरह देखें तो यह RBI द्वारा की गई लगातर चौथी वृद्धि है।

ये भी पढ़ें- 

RBI Repo Rate Hike: रेपो रेट बढ़ाने के साथ आरबीआइ ने घटाया विकास दर का अनुमान, जानें पूरी डिटेल

Home Loan EMI: 8 से 9 प्रतिशत बढ़ सकती है होम लोन की ईएमआई, रियल स्टेट सेक्टर पर क्या होगा असर

Edited By: Siddharth Priyadarshi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट