नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) कई सेविंग स्कीम के साथ मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट स्कीम (MODS) का भी विकल्प देता है। एसबीआई मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट स्कीम एक तरह की फिक्स्ड डिपॉजिट या टर्म डिपॉजिट स्कीम है। एसबीआई की वेबसाइट के अनुसार, सामान्य टर्म डिपॉजिट से अलग आप जरूरत के समय पर 1,000 रुपये के गुणकों में MODS अकाउंट से पैसा निकाल सकते हैं।

SBI मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट स्कीम के बारे में जानें ये 5 जरूरी बातें:

अमाउंट: मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट अकाउंट (MODS) खोलने के लिए 10,000 रुपये न्यूनतम फिक्स्ड डिपॉजिट अमाउंट रखना जरूरी है। आप इस अमाउंट से ऊपर 1,000 रुपये के गुणकों में ही जमा कर सकते हैं। इसमें जमा करने की अधिकतम कोई सीमा नहीं है।

कार्यकाल: एसबीआई की मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट स्कीम का न्यूनतम कार्यकाल 1 साल और अधिकतम कार्यकाल 5 साल है।

ब्याज की दर: एसबीआई MODS अकाउंट में सामान्य फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट के समान ही ब्याज देता है। एसबीआई ने 22 फरवरी से 2 करोड़ तक फिक्स्ड डिपॉजिट पर अपनी ब्याज दरों में संशोधन किया।

कार्यकाल             सामान्य नागरिक         वरिष्ठ नागरिक

1 से 2 साल से कम       6.8%                         7.3%

2 से 3 साल से कम       6.8%                         7.3%

3 से 5 साल से कम       6.8%                         7.3%

समय से पहले निकासी: इस अकाउंट में ग्राहक समय से पहले भी पैसा निकाल सकते हैं। एसबीआई के अनुसार, मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट स्कीम पर फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) अकाउंट की तरह समयपूर्व निकासी के नियम लागू होते हैं।

अन्य फीचर्स: एसबीआई की फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम के साथ नॉमिनेशन और लोन की सुविधा भी मिलती है। 

यह भी पढ़ें: SBI में स्मॉल सेविंग अकाउंट खोलने से पहले इन 5 बातों पर दें ध्यान

Posted By: Sajan Chauhan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप