बेतिया। जिलाधिकारी डा. निलेश रामचंद्र देवरे ने कहा कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) गरीबों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने वाली अति महत्वपूर्ण योजना है। इस योजना के तहत पात्र लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड दिया गया है और सभी को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलबध कराना है। इसके लिए निजी अस्पतालों को भी इस योजना से जोड़ा जाएगा। डीएम डा. देवरे गुरुवार को समाहरणालय के सभागार में आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा के तहत उपस्थित विभागीय अधिकारियों एवं निजी अस्पतालों के संचालकों की कार्यशाला को संबोधित करने के क्रम में यह बात कही। उन्होंने कहा कि सभी सरकारी अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी इलाज करा सकते हैं। इसके साथ ही सरकारी पैनल में शामिल निजी अस्पतालों में भी इस योजना के लाभार्थी इलाज करा सकते हैं। पैनल में निजी अस्पतालों को जोड़ने के लिए सरकार द्वारा एक मापदंड निर्धारित किया गया है। इसी उदेश्य की पूर्ति एवं सफलतापूर्वक क्रियान्वयन के लिए अब निजी अस्पतालों को भी जोड़ा जा रहा है। ताकि पात्र लाभुकों का समुचित इलाज सुनिश्चित किया जा सके।

उन्होंने इस योजना में शामिल होने वाले उपस्थित निजी नर्सिंग होम संचालकों तथा अन्य उपस्थित चिकित्सको से इस संदर्भ में सभी आवश्यक कागजातों के साथ ठीक ढंग से फॉर्म भरने का निर्देश दिया। कहा कि शत-प्रतिशत सही भरे हुए फॉर्म को डीइसी द्वारा अग्रतर कार्रवाई करते हुए मुख्यालय को समर्पित कर दी जाएगी। कार्यशाला में डॉक्टर अभिषेक कुमार एवं अरविन्द कुमार द्वारा विभिन्न पहलुओं पर विस्तारपूर्वक प्रकाश डाला गया। इस अवसर पर सिविल सर्जन डॉ0 अरूण कुमार सिन्हा, डॉ0 मोहनीश, डॉ0 प्रमोद तिवारी, डॉ0 संतोष कुमार सहित आईएमए के सदस्य, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी सहित जिला स्वास्थ्य समिति के पदाधिकारी एवं कर्मी उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस