बेतिया। मुजफ्फरपुर से वाया नरकटियागंज होते हुए पनियहवा तक दोहरीकरण का कार्य 2022 तक पूरा कर लिया जाएगा। नरकटियागंज-गौनाहा रेलखंड में भी निर्माण कार्य तेज गति से चल रहा है। पहले चरण में अमोलवा तक मार्च 2020 तक ट्रेनें दौड़ने लगेंगी। पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर के मुख्य प्रशासनिक पदाधिकारी बृजेश कुमार ने यह जानकारी देते हुए बताया कि निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। मुजफ्फरपुर से पनियहवा तक 2022 तक दोहरीकरण का कार्य पूरा कर लिया जाएगा। साथ ही इस रेलखंड में जिन जिन स्टेशनों तक निर्माण कार्य पूरा होगा, वहां तक ट्रेनों का परिचालन भी होता रहेगा। उन्होंने बताया कि नरकटियागंज-गौनाहा रेलखंड में पहले चरण का कार्य अमोलवा तक अंतिम चरण में है। मार्च 2020 तक अमोलवा तक ट्रेन चलने लगेगी। इस क्रम में अमोलवा और गौनाहा के बीच दो पुलों का निर्माण कार्य चल रहा है। पुलों के निर्माण कार्य समाप्त होते ही जून 2020 से गौनाहा तक भी गाड़ियां चलने लगेंगी। मुख्य प्रशासनिक पदाधिकारी ने कहा कि गौनाहा से भिखनाठोरी तक निर्माण कार्य के लिए वन विभाग की अनुमति नहीं मिली है। जैसे ही अनुमति मिलेगी कार्य आरंभ कर दिया जाएगा। बता दें कि नरकटियागंज और पनियहवा के बीच छोटे बड़े 83 पुलों का निर्माण करना है। इनमें कई पुलों का निर्माण कार्य शुरू भी कर दिया गया है। मिट्टी भराई का कार्य तेजी से चल रहा है। मुख्य प्रशासनिक पदाधिकारी के साथ पहुंचे चीफ इंजीनियर एके राय और इंजीनियरिग विभाग की टीम निरीक्षण में शामिल रही। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सीएओ बृजेश कुमार मुजफ्फरपुर से ही दोहरीकरण के लिए चल रहे मिट्टी भराई और पुलिया निर्माण के कार्य का जायजा लिया है। जहां-जहां उन्होंने सुधार की दिशा में जरूरत देखी वहां निर्माण कार्य कर रहे लोगों को निर्देशित किया। इंजीनियरिग विभाग की टीम पूरी बारीकी से चल रहे निर्माण कार्य की मुआयना की। उधर नरकटियागंज अमोलवा स्टेशनों के बीच ट्राली से अधिकारी निर्माण कार्यों का जायजा ले रहे हैं ताकि निर्धारित समय तक ट्रेनों का परिचालन शुरू किया जा सके। मौके पर स्टेशन प्रबंधक लालबाबू राउत, पीडब्ल्यूआई सुरेंद्र प्रसाद, डिप्टी एसएस अजय राम सहित कई पदाधिकारी मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप