जागरण संवाददाता, हाजीपुर :

नगर थाना क्षेत्र के अंजानपीर चौक के निकट बुधवार की सुबह सोनपुर पुलिस की अजीबोगरीब कार्यशैली पर स्थानीय लोग उग्र हो गए तथा पुलिस जीप पर सवार सभी पुलिस कर्मी को घेर लिया। काफी देर तक पुलिस टीम को बंधक बनाए रखा। घटना की सूचना सोनपुर थाना की पुलिस ने हाजीपुर नगर थाना की पुलिस को दी। सूचना पर पहुंची नगर थाना की पुलिस ने गुस्साई भीड़ के बीच घंटों से घिरी पुलिस टीम को काफी मशक्कत के बाद उग्र लोगों की चंगुल से निकाल कर वापस सोनपुर भेजा।

जानकारी के अनुसार हाजीपुर-छपरा एनएच 19 पर वैध तथा अवैध रूप से बालू लदे ट्रकों का आना-जाना होता है। एनएच पर बालू कारोबारियों के विरुद्ध हमेशा पुलिस अभियान चलाती रहती है तथा बराबर बालू लोड ट्रक एवं चालकों को पकड़ा भी जाता है। वहीं समय-समय पर पुलिस द्वारा अवैध वसूली का भी आरोप लगते रहता है। इसी क्रम में बुधवार की सुबह हाजीपुर में अंजानपीर चौक के निकट लोगों ने एक बिना नंबर प्लेट की पुलिस लिखी वाहन पर सवार पुलिस कर्मियों को बालू लदे ट्रकों की जांच करते देखा।

इस दौरान हो रहे हो-हंगामा के कारण स्थानीय लोग मौके पर जुटने लगे। इस दौरान लोगों को पता चला कि पुलिस की यह टीम सोनपुर थाना की है। इसके बाद सभी लोगों ने पुलिस के वाहन को जवान समेत घेर लिया। स्थानीय लोगों ने जब मामले की जानकारी ट्रक वाले से ली तो ट्रक वाले ने बताया की चालान दिखाने के बावजूद पुलिस जबरन पैसे की मांग कर रहे हैं। ट्रक चालक के इस आरोप के बाद लोगों ने पुलिस की टीम को सड़क पर ही घेर लिया। भीड़ पुलिस वालों पर जबरन वसूली का आरोप लगाना शुरू कर दिया। भीड़ से घिरे पुलिस वाले पुलिस जीप में ही बैठे रहे।

वहीं लोगों से घिरे पुलिस कर्मियों ने बताया कि बालू लदे ट्रक का पीछा करते हुए यहां तक पहुंच गए हैं और स्थानीय लोग बालू कारोबारियों की सह पर उन सभी को घंटे भर से रोक कर रखे हुए है। पुलिस वालों के घेर कर रखे जाने की सूचना के बाद हाजीपुर के साथ सोनपुर की पुलिस टीम मौके पर पहुंची। जिसके बाद किसी तरह लोगो को समझाकर पुलिसकर्मियों और पुलिस जीप को वहां से निकाला गया।

Edited By: Jagran