सुपौल। भीमपुर थाना क्षेत्र की एक महिला को एक व्यक्ति द्वारा अपहरण कर कई दिनों तक लगातार यौन-शोषण व मतांतरण के लिए दबाव डाले जाने का मामला प्रकाश में आया है। मामले को लेकर पीड़िता द्वारा भीमपुर थाने में आवेदन देकर थाना क्षेत्र के ही चापीन वार्ड नंबर 13 निवासी मु. कलीम पर अपहरण कर दो महीने तक फारबिसगंज में रखने, जोर जबरदस्ती लगातार यौन शोषण करने, धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डालने का आरोप लगाते हुए न्याय की गुहार लगाई गई है।

पीड़िता द्वारा आवेदन में बताया है कि इसी वर्ष 30 जून को संध्या 7:00 बजे अपने घर से शौच के लिए बाहर निकली थी। इसी क्रम में आरोपित ने उसका अपहरण कर लिया और आंख मुंह बंद करके गाड़ी में बिठाकर कहीं ले गया जहां उसे एक कमरे में बंद कर रखा गया। जहां उसका लगातार यौन-शोषण होता रहा। पीड़िता का आरोप है कि उसे मारपीट कर उसके ऊपर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया जाता रहा। पीड़िता शादीशुदा और दो बच्चे की मां है। पीड़िता के अनुसार महीने भर से अधिक एक ही कमरे में बंद होने के बाद उसे पता चला कि वह फारबिसगंज के किसी घर में बंद है। शनिवार सुबह उसे ट्रेन से कहीं ले जाया जा रहा था। इसी दौरान उसने चालाकी से किसी व्यक्ति का मोबाइल मांगकर अपने स्वजनों को इसकी सूचना दे दी। सूचना मिलते ही पीड़िता के स्वजन विश्व हिदू परिषद छातापुर इकाई के कार्यकर्ताओं के साथ फारबिसगंज स्टेशन पहुंच गए और पीड़िता को सकुशल बरामद कर लिया। उन्होंने घटना के आरोपित को भी मौके से ही पकड़कर भीमपुर थाना के सुपुर्द कर दिया। घटना के संबंध में भीमपुर थानाध्यक्ष सुबोध यादव ने बताया कि पीड़िता द्वारा दिए आवेदन के आधार पर सुसंगत धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में सुपौल जेल भेज दिया गया है।

Edited By: Jagran