सिसवन (सिवान) : भगवान भोलेनाथ को सर्वाधिक प्रिय सावन मास की शुरुआत के साथ ही जिले के सभी शिवालयों में शिवभक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी है। जिले के सिसवन प्रखंड के मेंहदार गांव स्थित बाबा महेन्द्रनाथ मंदिर में सावन के पहले दिन करीब 25 हजार श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक कर पूजा-अर्चना की। मेंहदार मंदिर जय शिव व बोलबम के नारों से गूंज रहा है।

ऐतिहासिक व पौराणिक महत्व के धनी बाबा महेन्द्रथथ के मंदिर में पूरे सावन मास, शारदीय नवरात्र, प्रत्येक महीने के कृष्ण पक्ष त्रयोदशी को शिवभक्तों की भीड़ उमड़ पड़ती है। सावन महीने में प्रत्येक सोमवारी को शिवभक्तों की आस्था देखते ही बनती है। नेपाल नरेश महेन्द्र द्वारा निर्मित इस शिवमंदिर में जुटने वाली भीड़ में उत्तर बिहार के सभी जिलों के श्रद्धालु होते है। महाशिवरात्रि के दिन यहां करीब दो लाख श्रद्धालु पूजा-अर्चना करते है। मंदिर के बगल में विख्यात कमलदाह सरोवर स्थित है। इस सरोवर की चर्चा आदित्य हृदय स्त्रोत, काली तंत्र व पद्मपुराण में की गयी है। यहां पहुंचने के लिए निकटतम महेन्द्रनाथ हाल्ट व दारौंदा जंक्शन से सड़क मार्ग की सुविधा है। सावन महीने में यहां कांवरधारी श्रद्धालु भी पहुंचते है।

सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दो बार आगमन व करीब दो करोड़ की राशि खर्च किए जाने के बावजूद यहां आवश्यक सुविधाओं का अभाव है। मसलन श्रद्धालुओं को आराम करने के लिए बेंच, पेयजल, शौचालय आदि का अभाव है। बुधवार को जलाभिषेक करने पहुंचे बखरी निवासी रवीश, चैनपुर निवासी संजीव, मधवापुर निवासी विश्वजीत आदि ने बताया कि विवाह भवन व अतिथिशाला से ज्यादा जरूरी शौचालय, पेयजल की सुविधा है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर