Move to Jagran APP

Bihar News: छपरा में भीषण गर्मी के बीच बार-बार बिजली कटने से गुस्से में लोग, सड़क उतरकर जमकर किया हंगामा व आगजनी

बिहार के छपरा शहर में अनियमित बिजली आपूर्ति के खिलाफ शनिवार को लोगों ने सड़क जाम करके जमकर बवाल काटा। आक्रोशित शहरवासियों ने बिजली विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान लोगों ने सड़क पर टायर जलाकर आगजनी की। लगभग एक घंटे तक यातायात बाधित रहा। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि चार दिनों से बिजली आपूर्ति नहीं के बराबर हो रही है।

By Amritesh Kumar Edited By: Mohit Tripathi Sun, 16 Jun 2024 03:08 PM (IST)
अनियमित बिजली मिलने पर करीम चौक के पास सड़क जाम करते लोग। (जागरण फोटो)

जागरण संवाददाता, छपरा। शहर के करीम चौक के पास अनियमित बिजली आपूर्ति के खिलाफ शनिवार को मोहल्ले के लोगों ने सड़क जाम किया। इस दौरान आक्रोशित लोगों ने बिजली विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लोगों ने सड़क पर टायर जलाकर आगजनी की।

आक्रोशित उपभोक्ताओं ने चौराहों पर सड़क जामकर आक्रोश व्यक्त करते हुए जमकर प्रदर्शन करते हुए बिजली विभाग के खिलाफ नारे लगाए। लगभग एक घंटे तक यातायात बाधित रहा। उससे यात्रियों को कठिनाई का सामना करना पड़ा।

प्रदर्शन कर रहे लोगों ने बताया कि चार दिनों से बिजली आपूर्ति नहीं के बराबर हो रही है। ट्रांसफार्मर बार-बार जल जा रहा है। बिजली विभाग के कर्मी आकर बना रहे हैं लेकिन ट्रांसफार्मर बन नहीं पा रहा है। कभी लो वोल्टेज तो कभी ट्रांसफार्मर का फ्यूज जल जा रहा है।

बिजली विभाग की लापरवाही पूर्ण रवैया से हम लोगों को काफी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। बच्चों की पढ़ाई लिखाई के साथ ही आमजन जीवन बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। इस गर्मी में लोगों का जीना मुहाल हो गया है।

बिजली विभाग ट्रांसफार्मर बदलने के बजाय उसे बना रहा है लेकिन बन नहीं पा रहा है। इससे मोहल्ले को लोगों को काफी परेशानी हो रही है।

सड़क जाम होने के कारण चौक के पास यातायात बाधित हो गया। साहेबगंज रोड में टेंपो, बाइक एवं गाड़ियों की लंबी कतार लग गई। सड़क जाम की सूचना मिलने पर नगर थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर जाम को खत्म करायी।

यह भी पढ़ें: Tejashwi Yadav: 'न खुद चैन से बैठेंगे न ही...' तेजस्वी ने नीतीश सरकार को दे डाला ओपन चैलेंज; भर्ती पर कही ऐसी बात

Bihar News: राज्यपाल तक की जमीन को खरीद-बेंच डाल रहे भू-माफिया, खगड़िया में आया हैरान करने वाला मामला