छपरा। विश्व प्रसिद्ध सोनपुर मेला में भू-राजस्व विभाग का स्टॉल का उद्घाटन अपर जिलाधिकारी अरूण कुमार ने फीता काटकर किया। उसके बाद उन्होंने स्टॉल में लगे कंप्यूटर से राजस्व ग्राम का डिजिटल मानचित्र को निकाला।

उद्घाटन के मौके पर अपर जिलाधिकारी ने बताया कि इस सोनपुर मेला में लगे

इस स्टॉल से बिहार के सभी राजस्व ग्रामों का डिजिटल मानचित्र कोई भी नागरिक 150 रूपये मात्र सरकारी शुल्क के द्वारा कोई भी नागरिक तीन मिनट के अन्दर प्राप्त कर सकते हैं। यह कार्य राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र पटना के तकनीकी सहयोग के द्वारा किया गया है। सोनपुर मेले में आये पर्यटक बिहार के किसी भी जिले का डिजिटल मानचित्र का आवेदन पत्र भरकर संबंधित राजस्व ग्राम का डिजिटल मानचित्र प्राप्त कर सकते हैं। उद्घाटन के एक घंटे के अन्दर 50 से ज्यादा डिजिटल मानचित्र का बिक्री हो गई थी तथा पर्यटकों की लम्बी कतारें लगी हुई थी। इस तकनीकी कार्य का पर्यवेक्षण राज्य सूचना विज्ञान पदाधिकारी राजेश कुमार के देख-रेख में संपादित किया गया। इस कार्य में तकनीकी सहयोग संजय कुमार, तकनीकी निदेशक, एनआईसी के राज्य समन्वयक राजीव रंजन, तकनीकी निदेशक, एनआईसी, एएनझा, कन्हैया पांडेय के द्वारा किया गया। पूरे बिहार के राजस्व ग्रामों का डिजिटल मानचित्र मुंबई में बिहार फाउंडेशन से भी प्राप्त किया जा सकता है। साथ ही बिहार भवन, नई दिल्ली से भी इस मानचित्र को डिलीवर करने की प्रक्रिया चल रही है। इस कार्य को सफलता पूर्वक संपादित करवाने में उपेन्द्र कुमार, डीसीएलआर सोनपुर, संजीव कुमार, डीसीएलआर सदर छपरा एवं अंचल पदाधिकारी सोनपुर के द्वारा सहयोग किया गया। डिजिटल मानचित्र के मुद्रण का कार्य भू-मानचित्र सॉफ्टवेयर के द्वारा किया गया। इस सॉफ्टवेयर का सोनपुर मेला में सफल इंस्टॉलेशन एवं सफलतापूर्वक संचालन राम भगवान ¨सह जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी सारण छपरा के देख-रेख में संपादित किया गया। यह स्टॉल तीन दिसंबर, 2017 तक सोनपुर मेला में स्थापित रहेगा। उद्घाटन के दौरान सारण जिला के सभी भूमि सुधार उप समाहर्ता, सभी अंचल पदाधिकारी एवं सभी डाटा इंट्री ऑपरेटर मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप