समस्तीपुर । बिहार ग्रामीण बैंक और मध्य बिहार ग्रामीण बैंक के विलय के बाद दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक देश का सबसे बड़ा ग्रामीण बैंक बन गया है। नवगठित दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक के गठन को लेकर समस्तीपुर प्रक्षेत्र के सभी शाखाओं में धूमधाम से उत्सव मनाया गया। मंगलवार से इसकी सभी शाखाओं पर दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक का बोर्ड टांग दिया गया है। यह जानकारी क्षेत्रीय प्रबंधक विभाकर झा ने दी। उन्होंने बताया कि इसका प्रधान कार्यालय पटना में होगा। इसका प्रवर्तक बैंक पंजाब नेशनल बैंक होगा। यह बैंक अब राज्य के 20 जिलों यथा बांका, भागलपुर, मुंगेर, लखीसराय, जमुई, शेखपुरा, खगड़िया, बेगुसराय, समस्तीपुर, बक्सर, भोजपुर, पटना, नालन्दा, जहानाबाद, कैमूर, रोहतास, औरंगाबाद, गया, नवादा एवं अरवल में काम करेगा। उन्होंने बताया कि दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक का कारोबार 26000 करोड़ रूपये का हो गया है। वहीं दोनों बैंक के मिलने के बाद दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक के कर्मचारियों की कुल संख्या 4330 हो चुकी है। बैंक शाखाओं की कुल संख्या 1078 हो गयी है। समस्तीपुर प्रक्षेत्र की सभी शाखाओं में 01 जनवरी से दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक का बोर्ड लगा दिया गया है। नवगठित दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक के गठन को समस्तीपुर प्रक्षेत्र के सभी शाखाओं में धूमधाम से उत्सव मनाया गया। क्षेत्रीय अधिकारी ने बताया की उपभोक्ताओं को डिजिटल बैं¨कग समेत अन्य सुविधाएं मिल सकेंगी। साथ ही लोगो को आसानी से ऋण मुहैया हो सकेगा। कार्यक्षेत्र बढ़ने से बैंक अब अधिक से अधिक लोगो तक अपनी सेवा प्रदान कर सकेगा। बैंक अब केंद्र और राज्य सरकार के विभिन्न योजनाओं का लाभ भी उपलब्ध करा सकेंगे। बता दें कि पहले समस्तीपुर क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक हुआ करता था। बाद में इसे बिहार ग्रामीण बैंक के रूप में तब्दील किया गया। अब इसका नामाकरण दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक कर दिया गया है।

Edited By: Jagran