रोहतास। थाना क्षेत्र के मलियाबाग में शुक्रवार को बच्चा चोरी की अफवाह के चलते नासमझी में हिसक भीड़ के हत्थे दो महिलाएं चढ़ गई। दोनों महिलाएं पटना से गुप्ताधाम जा रही थी। रास्ता भटक कर मलियाबाग पहुंच गई और भीड़ के हत्थे चढ़ गई। यदि समय पर पुलिस नहीं पहुंची, तो शायद हिसक भीड़ उनकी जान ही ले लेती। पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर किसी तरह उन्हें भीड़ की चंगुल से छुड़ा सीएचसी पहुंचाया। इस दौरान भीड़ में शामिल असामाजिक तत्वों ने पुलिस पर हमला कर दो पुलिस अधिकारियों को घायल कर दिया। पुलिस वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस वैसे लोगों को चिह्नित कर कड़ी कार्रवाई करने की तैयारी में लगी है। इस मामले में जख्मी महिलाओं व एक जख्मी एसआइ के बयान पर लगभग एक हजार लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

थानाध्यक्ष शशिभूषण प्रसाद ने बताया कि पटना के आलमगंज मुहल्ला निवासी संगीता देवी व उसकी बहन बेबी देवी पटना से सासाराम के रास्ते गुप्ताधाम के लिए चली थी, लेकिन गलत बस पकड़ बिक्रमगंज होते सासाराम जाने के बजाए मलियाबाग पहुंच गई। बस कंडक्टर के बताने पर मलियाबाग में उतरने के बाद वहां से बिक्रमगंज का टेंपो तलाश रही थी। रास्ते की जानकारी नहीं होने के चलते टेंपो चालकों से पूछताछ कर रही थी। तभी कुछ असामाजिक तत्वों व टेंपो चालकों द्वारा बच्चा चोरी का आरोप लगा मारपीट की जाने लगी। धीरे-धीरे भीड़ बढ़ती गई और अधिकांश लोगों ने बिना सच्चाई जाने ही उनकी बेरहमी से पिटाई शुरू कर दी। भीड़ में पीडि़त महिलाओं से 1500 रुपये भी छीन लिया गया है। इसकी सूचना पुलिस को मिली, तो फौरन घटनास्थल पर पहुंच पुलिस द्वारा दोनों महिलाओं को किसी तरह भीड़ की चंगुल से मुक्त करा उन्हें कब्जे में ले लिया गया। भीड़ में शामिल असमाजिक तत्वों द्वारा पुलिस अधिकारी के साथ भी मारपीट की गई और पुलिस वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। पूर्व से ही बच्चा चोरी की घटना का वीडियो वायरल हो रहा है, जो कुछ लोगों की सोची समझी चाल है। क्षेत्र को अफवाह की आग में झोंकने की कोशिश की जा रही है। इस घटना में करीब एक हजार लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। जल्द ही इस दिशा में कार्रवाई की जाएगी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran