जागरण संवाददाता, पूर्णिया : दीपावली व छठ को लेकर चाइल्ड लाइन कार्यालय में मंगलवार को कार्यकर्ताओं की बैठक जिला समन्वयक मयूरेश गौरव की अध्यक्षता में हुई। बैठक में महापर्वो के दौरान बच्चों के संरक्षण के लिए चाइल्ड लाइन की टीम की सतत सजगता पर जोर दिया गया। जिला समन्वयक ने कहा कि हर एक कार्यकर्ता को सजग रहना है। दीपावली के दौरान आतिशबाजी में बच्चों द्वारा कोई लापरवाही न बरती जाए, इसके लिए क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों व अभिभावकों से संपर्क कर उन्हें भी सजग करने की जरुरत है। इसी प्रकार छठ पर्व को लेकर तालाब व नदी में स्थानीय प्रशासन से संपर्क कर तालाब व नदी में बैरिकेडिग कराने की दिशा में भी पहल करने का निर्देश दिया गया। जिला समन्वयक ने कहा कि काली व छठ मेला में बच्चों के स्वजनों से बिछुड़ने की यदा-कदा घटनाएं होती है। इस संभावना को देखते हुए चाइल्ड लाइन टीम को पूरी तरह सचेष्ट रहना है। बताया गया कि चाइल्ड लाइन के कार्यो का मासिक प्रगति प्रतिवेदन प्रत्येक महीना के दो तारिक को जिला के टीम के साथ बैठक कर किये गए कार्यों की समीक्षा की जाती है। बस पड़ाव व रेलवे स्टेशन पर भी रहेगी खास नजर

बैठक में चाइल्ड लाइन द्वारा किए गए कार्यो व उपलब्धियों पर भी विस्तार पूर्वक चर्चा की गई। जिला समन्वयक मयूरेश कुमार गौरव ने उपस्थित टीम लीडर व कर्मियों को सभी प्रकार के प्रगति प्रतिवेदन स समय जमा करने का निर्देश भी दिया। टीम सदस्य अजीत कुमार ने कहा कि बच्चों के संरक्षण को लेकर बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन के अलावा काली मेला में चाइल्ड लाइन के कार्यकर्ता तैनात रहेंगे। मेले के दौरान मानव तस्करी की संभावना को देखते हुए सजग रहने की बात कही गई। इस दौरान यह भी निर्णय लिया गया कि आगामी बैठक चाइल्ड लाइन उपकेंद्र बड़हरा कोठी में आयोजित होगी। इस मौके पर चाइल्ड लाइन बी कोठी उपकेंद्र के समन्वयक विनय कुमार सिंह, कसबा के समन्वयक जयकृष्ण गुरु, बायसी के ओम कुमार दीप, चाइल्ड लाइन पूर्णिया टीम के सदस्य अजीत कुमार, गौरव कुमार, विश्वनाथ, रामदयाल राय, कालेव गुरुंग, अरविद कुमार व गौरव कुमार मौजूद थे।

Edited By: Jagran