जागरण संवाददाता, पूर्णिया। अमौर थाना क्षेत्र से तीन वर्ष पूर्व लापता एक युवती की तलाश में सदर थाना पुलिस द्वारा शनिवार को खुश्कीबाग मोड़ रेडलाइट एरिया में छापेमारी की गई। यद्यपि पुलिस के पहुंचने की भनक लगते ही धंधेबाज अपने-अपने घरों में ताला मार वहां से फरार हो गए। इस चलते काफी मशक्कत के बाद भी युवती का कोई अता-पता नहीं चल पाया है।

दरअसल शनिवार की सुबह अमौर थाना क्षेत्र से युवती का पिता सीधे रेड लाइट एरिया पहुंच गया। पिता को दो दिन पूर्व यह सूचना मिली थी कि उसकी बेटी रेडलाइट एरिया में रखी गई है। पिता यहां पहुंचते ही अपनी पुत्री की

तलाश शुरु कर दी। इसको लेकर उसने हंगामा भी मचाना शुरु कर दिया। वह एक घर को इशारा कर यह कह रहा था कि थोड़ी देर पहले ही उसने अपनी बेटी को इसी घर में देखा था। बाद में इसकी सूचना सदर थाना पुलिस को भी दी गई। सूचना

मिलते ही पुलिस चाइल्ड लाइन के सदस्यों के साथ रेडलाइट एरिया पहुंच छापेमारी शुरु कर दी। पुलिस ने पिता

द्वारा बताए गए घर को तोड़कर उसकी तलाशी भी ली, लेकिन युवती का कोई पता नहीं चला। इस दौरान रेड लाइट एरिया में अफरा तफरी का माहौल बना रहा। स्थानीय लोगों ने स्वजनों द्वारा दिखाए गए लड़की का फोटो देखने पर बताया कि विगत डेढ़ साल से इस लड़की को रेड लाइट एरिया में रहने वाला एक व्यक्ति अपने घर में रख रहा है। वह कई लड़की से देह व्यापार का धंधा कराता है और शराब की भी खरीद बिक्री करता है। स्थानीय लोगों ने आगे कहा कि कई बार इसकी शिकायत स्थानीय पुलिस से की गई है। पुलिस छापेमारी के बाद कुछ दिन तक देह व्यापार का धंधा बंद रहता है और फिर यह शुरु हो जाता है। फिलहाल पिता अपनी पुत्री की बरामदगी की गुहार पुलिस के उच्चाधिकारियों से लगाई है। इधर पुलिस की नजर रेडलाइट एरिया पर टिकी हुई है।

Edited By: Jagran