पूर्णिया। जिले के एक छोटे से स्थान के लाल ने ब्लागिंग के क्षेत्र में कमाल किया है। जिला मुख्यालय से 14 किलोमीटर की दूरी पर स्थित रानीपतरा निवासी ब्रजेश कुमार को आइआइटी दिल्ली में शनिवार को ग्लोबल यंग लीडर्स फेलोशिप कर्मवीर अवार्ड से नवाजा जाएगा।

बताते चलें कि ब्रजेश ने अपनी शुरुआत गरीबी से की। इनके पिता अरुण कुमार सिंह की पहले सब्जी की दुकान थी जिसपर ब्रजेश भी बैठते थे। बाद में इस दुकान में किराने का सामान भी रखा जाने लगा। इससे परिवार की गाड़ी चलती थी। इन्होंने प्रारंभिक शिक्षा रानीपतरा से शुरू की। मैट्रिक की परीक्षा चांदी रजीगंज से, एएन कॉलेज पटना से इंटर और कोलकाता के बीपी पोद्दार इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी से बीटेक की डिग्री हासिल की। कंप्यूटर साइंस से बीटेक करने के बाद कैंपस सेलेक्शन हुआ और नौकरी में चले गए। अमेरिकी कंपनी से ऑफर मिला लेकिन स्वदेश प्रेम के कारण जाना रास नहीं आया। नौकरी के साथ ब्लागिंग शुरू किया और आज इस क्षेत्र में काफी नाम कमा रहे हैं।

फिलहाल जिस पुरस्कार से सम्मानित होनेवाले हैं वह रेक्स कर्मवीर ग्लोबल फेलोशिप और कर्मवीर अवार्ड संयुक्त रूप के साथ साझेदारी में अंतरराष्ट्रीय परिसंघ की एनजीओ (आइकोन) द्वारा संयुक्त राष्ट्र (संयुक्त राष्ट्र ने सतत विकास लक्ष्यों में गुणवत्ता-शिक्षा पर जोर दिया है) द्वारा संचालित है। छोटे से गांव से आगे बढ़कर नाम कमाने वाले ब्रजेश कुमार सिंह को पहले भी ब्लागिंग के लिए कॉरपोरेट कंपनियों द्वारा कई अवार्ड़स से नवाजा गया है। ब्रजेश कहते हैं कि यह अवार्ड स्व. दादा राम यतन सिंह आर्य, पिता अरुण कुमार सिंह, माता सीता देवी, बड़े भाई राजेश कुमार सिंह का आशीर्वाद है। बताते चलें कि ब्रजेश कई सेलिब्रिटी के लिए भी ब्लागिंग का काम कर चुके हैं। साथ ही आज टेक, लाइफस्टाइल, फैशन और ट्रैवल ब्लागिंग से डिजिटल व‌र्ल्ड में नाम भी कमा रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी ब्रजेश के काफी फैन फॉलोवर हैं। इसके अलावा ब्रजेश चेन्नई के ऑटोमोटिव इंडस्ट्री में सीनियर इंजीनियर के पोस्ट पर भी काम कर रहे हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस