पूर्णिया। चाइल्ड लाइन ने केनगर के झुन्नी कला में हनुमान मंदिर परिसर में बच्चों के लिए खुला मंच का आयोजन किया। इस दौरान कोरोना के प्रति सजगता और समस्या को लेकर पूछा गए सवालों का जवाब दिया गया। जिला समन्वयक मयूरेश गौरव ने बताया कि इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य बच्चों से मिलकर बच्चों की समस्या की जानना और निपटारा करना है। सामूहिक मंच तैयार कर बच्चों पर होने वाले शोषण के प्रति जागरूक करना है। मानव तस्करी की रोकथाम और कोरोना बचाव के लिए क्या -क्या नियमों का पालन करना चाहिए इसकी जानकारी दी गई। स्वच्छता के प्रति जागरूक करना और बच्चों के साथ होने वाली दु‌र्व्यवहार से बचाना के लिए चाइल्ड लाइन नंबर 1098 के महत्व के बारे में भी बताया गया। टीम गांव- गांव जाकर चाइल्ड लाइन का प्रचार प्रसार किया जा रहा है। प्रतिदिन बच्चों से मिलकर जागरूक किया जाता है। चाइल्ड लाइन के सदस्यों में दीपक कुमार, मिथिलेश कुमार ने बच्चे और बच्चियों से खेल, गाना प्रतियोगिता आदि भी आयोजित की जाती है। समस्या को जानने का प्रयास किया गया। ग्रामीण बच्चों को गुमशुदा बच्चे, घर से भागे बच्चे, अनाथ बच्चे मानव तस्करी, भूले भटके, शोषित आदि बच्चों की समस्या दिखने या होने पर चाइल्ड लाइन 1098 में डायल कर सहायता ली जा सकती है। रूबी रानी ने खेल के माध्यम से बताया कि बच्चे एवं बच्चियां अपने आपको अनजान लोगों से किस तरह से सुरक्षित रखेंगे। इस आयोजन में जिला समन्वयक मयूरेश गौरव, चाइल्ड लाइन सदस्य दीपक कुमार, मिथिलेश कुमार, रूबी रानी ने योगदान किया।

Edited By: Jagran