जागरण टीम, फुलवारीशरीफ (पटना)। पटना के बेउर में नमामि गंगा के तहत एलएनटी द्वारा नाला निर्माण के दौरान चैंबर में उतरे दो मजदूरों की सोमवार की दोपहर दम घुटने से मौत हो गई। मृतक की पहचान पश्चिम बंगाल के मुर्शीदाबाद के खोरीगोना गांव निवासी मो सद्दाम ऊर्फ इदरीस (29) और मो. इकबाल (26) के रूप में हुई है। सूचना पाकर स्थानीय पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंची। बेउर थाना में तैनात प्रशिक्षु डीएसपी अमीत कुमार ने बताया कि एलएनटी और नयन रागा द्वारा नाले की सफाई के दौरान दो मजदूर की दम घुटने से मौत हुई है। कंपनी के वरीय कर्मियों की लापरवाही सामने आई है। पुलिस मामले के हर बिंदु पर छानबीन कर रही है। 

प्रत्यक्षदर्शी सहकर्मी ने बताया कि सोमवार की सुबह एलएनटी द्वारा बनाए गए नाले में बेउर की ओर से आ रहे पानी की निकासी के लिए सफाई करने को मो. इकबाल 30 फीट गहरे चैंबर में उतरा था। चैंबर में उतरने के कुछ मिनट बाद ही उसका दम घुटने लगा। यह देखकर उसका साथी मो. सद्दाम शोर मचाते हुए बचाने के लिए चैंबर में उतर गया। दोनों की चैंबर में दम घुटने से मौत हो गई। घटना के बाद सहकर्मियों में अफरा-तफरी मच गई। आसपास के स्थानीय लोगों की भीड़ भी जमा हो गई। दो मजदूरों की मौत के बाद बेउर स्थित स्थानीय एलएनटी कार्यालय छोड़कर सभी वरीय कर्मी फरार हो गए। कॉल करने के पर कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर विजय गोयल ने फोन नहीं रिसीव किया। 

एक घंटा रेस्क्यू के बाद निकाला मजदूरों का शव

प्रशिक्षु डीएसपी के अनुसार सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने एक घंटे के मशक्कत के बाद दोनों शव को निकालकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। एलएनटी कंपनी द्वारा बेउर और उसके आसपास खोदकर छोड़े गए गड्ढे से पहले से ही नाराज चल रहे थे। दो मजदूरों की मौत के बाद गुस्साए लोगों ने इसके लिए कंपनी को जिम्मेदार ठहराया।

Edited By: Akshay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट