पटना, जागरण टीम। बिहार में कोरोना का कहर इन दो दिनों में बढ़ गया है। दो दिनों में कोरोना पॉजिटिव केस 39 से बढ़कर 60 पर पहुंच गया है। बिहार का सिवान चाइना का वुहान बन गया है। सिवान को सील कर दिया गया है। साथ ही बेगूसराय व नवादा को भी सील कर दिया गया है। हालांकि, 17 मरीज ठीक भी हो गए। इसके बाद भी सरकार पूरी तरह कोरोना को लेकर अलर्ट है। शुक्रवार को भी मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि लॉकडाउन का पालन करें। लोगों को किसी प्रकार की दिक्‍कत नहीं होगी। उन्‍हाेंने यह भी कहा कि लोग भ्रमित नहीं हों। साथ ही सरकार ने आज मुखिया पर बड़ी जिम्‍मेवारी सौंपी है। उन्‍होंने साफ कहा कि गांवों में लॉकडाउन का उल्‍लंघन होगा तो इसकी जिम्‍मेवारी मुखिया की होगी। वहीं बिहार में लगे लॉकडाउन का शुक्रवार को 19वां दिन है। यह खत्‍म होगा या नहीं अथवा इसमें कुछ ढील दी जाएगी, इस पर अभी कोई निर्णय नहीं हुआ है। कोरोना राउंडअप में पढें एक साथ दिनभर की खबरें। 

बिहार के मुखिया को दी गई बड़ी जिम्‍मेवारी

पटना। गांव के भीतर अगर लॉकडाउन टूटा तो संबंधित पंचायत के मुखिया को इसके लिए जवाबदेह माना जाएगा। मुखिया और पंचायत के वार्ड पार्षदों की यह जिम्मेदारी होगी कि वे नियमित रूप से यह मॉनीटर करें कि उनके पंचायत में लॉकडाउन का उल्लंघन नहीं हो। इसके लिए अगर उन्हें कुछ जरूरत है तो वह स्थानीय प्रशासन से सहायता ले सकते हैं। आपदा प्रबंधन विभाग ने सभी जिलों के डीएम व एसपी को यह कहा है कि लॉकडाउन के पालन में अब किसी तरह की रियायत बर्दाश्त नहीं करें। सीधे कार्रवाई हो। जरूरत के हिसाब से मुकदमा कर गिरफ्तारी से भी नहीं हिचकें। यह शिकायतें मिल रही थीं कि खुलेआम लोग समूह में निकल जा रहे हैं। इनमें ऐसे लोगों की संख्या अधिक है जो हाल में बाहर के राज्यों से अपने घर लौटे हैं। वहीं शहरी क्षेत्र में लाॅकडाउन के संबंध में यह कहा गया है कि बाहर निकलने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाए। अगर चेतावनी के बाद भी लोग नहीं मानते हैं तो गिरफ्तारी से भी परहेज नहीं किया जाए। जरूरत के हिसाब से बैरिकेडिंग और अतिरिक्त पुलिस बल लगाए जा सकते हैं। प्रतिदिन यह जानकारी भी नियमित रूप से उपलब्ध करानी है कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ क्या कार्रवाई हुई।

नीतीश बोले: लोग भ्रमित नहीं हों, सामाजिक सद्भाव कायम रखें

पटना। मुख्यमंत्री ने लोगों से यह अपील की है कि वे भ्रमित नहीं हों और सामाजिक सद्भाव कायम रखें।  उन्होंने इस सिलसिले में मुख्य सचिव दीपक कुमार और डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को निर्देश दिया कि वे यह सुनिश्चत कराएं कि कोरोना संक्रमण के संबंध में लोगों के बीच किसी भी प्रकार का अफवाह नहीं फैले। मुख्यमंत्री ने राज्यवासियों से यह अपील की है कि अफवाहों पर ध्यान नहीं दें और समाज में आपसी प्रेम, सद्भाव एवं भाईचारा बनाएं रखें। उन्होंने कहा कि उन्हें यह विश्वास है कि हम सब मिलकर कोरोना महामारी से निपटने में सक्षम होंगे।

सिवान के 47 गांव हुए सील, ड्रोन से हो रही निगरानी

सिवान। बिहार के सिवान जिले में तबाही मची है। जिला प्रशासन ने जिले के 10 प्रखंडों के 47 गांवों को पूर्णत: लॉकडाउन कर दिया है। इन गांवों को कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है। तीन किमी तक किसी के आने जाने पर पूर्ण पाबंदी है। सात किलोमीटर की परिधि के क्षेत्र को बफर जोन बना दिया गया है। सिवान में  पिछले दो हफ्ते में कोरोना ने ढाई दर्जन लोगों को शिकार बनाया है। प्रदेश में यहां से संक्रमितों की सबसे ज्यादा संख्या को देखते हुए पूरा जिला हाई अलर्ट पर है। हर थाने की सीमाबंदी के साथ सिवान, गोपालगंज और छपरा की सीमाएं सील कर दी गई हैं। रघुनाथपुर प्रखंड के पंजवार गांव के 23 लोग संक्रमित पाए गए हैं। पटना से आई स्वास्थ्य विभाग की स्पेशल टीम छिड़काव कर रही है। ड्रोन कैमरे से गांव की निगरानी हो रही है। एसडीओ और एसडीपीओ अनाज और सब्जी का वितरण करा रहे हैं। पटना से दो अतिरिक्त बटालियन फोर्स रघुनाथपुर प्रखंड में तैनात की गई है। शहरी इलाके के मुख्य पथों से मोहल्ले को जाने वाली सड़कों को बांस-बल्ली लगा सील कर दिया गया है। चौक-चौराहे पर फोर्स की तैनाती है। 

नेपाल से कोरोना संदिग्धों के घुसपैठ की आशंका पर हाई अलर्ट 

बेतिया। नेपाल से कोरोना संदिग्धों के घुसपैठ की आशंका पर प्रशासन हाई अलर्ट मोड में है। एसएसबी की 47वीं बटालियन के कमाडेंट के पत्र का हवाला देते हुए पश्चिम चंपारण के डीएम ने एसपी को पत्र लिखकर भारत-नेपाल सीमा पर हाई अलर्ट जारी कर चौकसी और कड़ी करने के निर्देश दिए हैं। एसएसबी कमांडेंट ने पश्चिम चंपारण के डीएम को पत्र लिखकर नेपाल के रास्ते कोरोना फैलाने की साजिश के बारे में आगाह किया है। उन्होंने लिखा है  कि नेपाल के परसा जिला के जगन्नाथपुर गांव का जालिम नामक मुखिया भारत के अंदर  40 से 50 कोरोना संदिग्ध भारतीय मुसलमानों को घुसपैठ कराने की फिराक में है। जालिम मुखिया पहले भारतीय नकली करेंसी की तस्करी में शामिल रहा है। 

मरीजों की संख्या हुई 60, अभी और बढऩे की आशंका

पटना। बिहार में कल तक कोरोना मरीजों की संख्या 58 थी। शुक्रवार को दो और मरीज पॉजिटिव मिले। बिहार में कोरोना वायरस के दो तिहाई केस के लिए दो शख्स जिम्मेदार। सिवान जिले में ओमान से आए एक शख्स ने 20 लोगों को संक्रमित किया, जबकि कतर से आए व्यक्ति से 16 लोग संक्रमित हुए हैं, जबकि राज्य में इस महामारी के कुल 60 केस दर्ज हुए हैं। वहीं, पटना के मोकामा से तब्लीगी जमात के पकड़े गए 9 लोगों की जांच हुई है, लेकिन आज उसकी रिपोर्ट नहीं आ सकी है। ये सभी जमाती एक अप्रैल से ही मोकामा में छिपे हुए थे।

फैसले की घड़ी, लॉकडाउन बढ़ाने पर तुरंत फैसला लेगा बिहार  

पटना। बिहार भी लॉकडाउन बढ़ाने को बाध्य होगा। परिस्थितियां बदल रही हैं। खास तौर पर बेगूसराय में जिन लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया, उनकी ट्रैवल हिस्ट्री पता नहीं चल रही। इसीलिए पूरे जिले को सील कर दिया गया है। इन चुनौतियों से जूझते हुए सरकार लॉकडाउन बढ़ाने को सबसे अच्छा उपाय मानती है। लॉकडाउन में और कड़ाई भी होगी।   

लाॅकडाउन के उल्लंघन में अब तक 969 लोगों पर प्राथमिकी

पटना। लाॅकडाउन उल्लंघन मामले में अब तक पूरे प्रदेश में 969 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है। वहीं, अब तक 23646 वाहनों के विरुद्ध मोटरयान अधिनियम की धारा 179 के तहत कार्रवाई की गयी है। इस आशय की जानकारी आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा दी गयी। शहरी क्षेत्र में निराश्रित लोगों के लिए 150 आपदा राहत केंद्र संचालित किए गए जहां 20400 से अधिक लोगों को नि:शुल्क भोजन कराया गया। 

नालंदा में सामूहिक फातिहा पढऩे की जिद पर पुलिस से नोकझोंक

नालंदा। गुरुवार की देर शाम धर्मगुरुओं की अपील को दरकिनार कर शब-ए-बरात पर शहर के इमादपुर मोहल्ले में लोग सामूहिक रूप से कब्रिस्तान में फातिहा पढऩे पर आमादा हो गए। उस वक्त वहां तीन पुलिस वाले तैनात थे। उन लोगों ने मना किया तो लोग भड़क गए और पुलिस से नोकझोंक करने लगे। भीड़ का गुस्सा और अनहोनी की आशंका देखकर पुलिस वाले वहां से निकल गए और अधिकारियों को इसकी सूचना दी। सदर डीएसपी इमरान परवेज दलबल के साथ इमादपुर पहुंचे और सामूहिक फातिहा पढऩे की जिद पर अड़े लोगों को समझाकर घर भेजा। इस दौरान बुजुर्गों ने भी पहल की और लोगों को घर भेजने में अहम भूमिका निभाई। 

कोरोना संक्रमितों की ट्रेवल हिस्ट्री तलाशने में पुलिस के छूट रहे पसीने

पटना। बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढऩे के साथ ही पुलिस की दुश्वारियां भी बढ़ गई हैं। उनकी ट्रेवल हिस्ट्री तलाशने में पुलिस को पसीने छूट रहे हैं। ऐसे लोगों की पहचान और उन्हें क्वारंटाइन सेंटर भेजने में भी काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। मुश्किल यह है कि महज हफ्ते भर पहले की ट्रेवल हिस्ट्री भी संक्रमित नहीं बता पा रहे हैं। उनके परिजन भी पुलिस को सहयोग नहीं कर रहे। कोरोना संक्रमण से बिहार में मारे गए पहले युवक के संपर्क में आए सभी लोगों की तीन हफ्ते बाद भी पहचान नहीं हो सकी है। इसमें युवक के रिश्तेदार और वह अस्पताल जहां उसका इलाज हुआ था, में संपर्क में आए लोग शामिल हैं। पुलिस के सामने ऐसी ही दुश्वारियां पिछले दिनों भागलपुर जिले के नवगछिया में संदिग्ध हालात में एक व्यवसायी के परिवार और उनके यहां काम करने वाले लोगों की ट्रेवल हिस्ट्री तलाशने में आ रही हैं। मुश्किल यह है कि महज पांच दिन पहले की ट्रेवल हिस्ट्री नहीं मिल पा रही है। व्यवसायी के परिजन या उनसे जुड़े लोग नहीं बता रहे हैं कि वह कहां-कहां गए थे। 

कोरोना पॉजिटिव मां के साथ रह रहे चार बच्चे  

पटना। कोरोना अस्पताल के आइडीएच में रह रहे कोरोना पॉजिटिव मरीजों के बीच पॉजिटिव हुई मां अपने चार बच्चों के साथ रह रही हैं। इनमें से दो की गुरुवार को आयी रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई है। इन बच्चों को सुरक्षित अलग रखने के लिए अस्पताल प्रशासन व्यवस्था करने में जुटा है। बच्चे इतने छोटे हैं कि डॉक्टर भी उन्हें मां से अलग करने की बात सोचकर सहम जा रहे। फिलहाल बाकी दो बच्‍चों की रिपोर्ट आने के बाद इस पर फैसला लिया जाएगा। 

होम क्वारंटाइन महनार के विधायक की रिपोर्ट निगेटिव

वैशाली। महनार विधायक उमेश सिंह कुशवाहा की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई है। दिल्ली प्रवास के दौरान निजामुद्दीन स्टेशन टावर पर विधायक के मोबाइल का लोकेशन मिलने के बाद जिला प्रशासन ने उनकी कोरोना संक्रमण की जांच कराते हुए होम क्वारंटाइन कर दिया था। वैसे विधायक अभी एम्स के डॉक्टरों के परामर्श पर होम क्वारंटाइन रहेंगे। जदयू के महनार प्रखंड अध्यक्ष श्याम राय ने बताया कि लॉकडाउन की स्थिति में विधायक होम क्वारंटाइन रहते हुए भी अपने क्षेत्र का हाल-चाल ले रहे हैं। 

सिर पर अंगोछा बांध विधायक ने ट्रैक्टर से किया सेनेटाइजेशन

सीतामढ़ी। कोरोना संकट में हर कोई मदद में हाथ बटा रहा है। सीतामढ़ी के नगर विधायक सुनील कुमार कुशवाहा ने एक कदम आगे बढ़कर दूसरों के लिए नजीर पेश किया है। सिर पर अंगौछा बांधे विधायक ट्रैक्टर लेकर निकल पड़े। सैनिटाइजेशन की कमान उन्होंने खुद थाम ली है। एक टैंकर सैनिटाइजर भरवाया, अपने लोगों को साथ लेकर छिड़काव करने लगे। संक्रमण से बचाने के लिए कई इलाकों में वे ट्रैक्टर चलाते हुए दिखे। शुक्रवार को उनका ये नया रूप देखकर हर कोई प्रशंसा कर रहा था। विधायक ने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए कमर कसकर मैदान में डट गए हैं। गांव-मोहल्लों को सैनिटाइज करने के लिए हमने जरूरी सामान इंतजाम किया। ट्रैक्टर की स्टेयरिंग भी खुद ही पकड़ ली है और निकल पड़े हैं। जिला मुख्यालय से छह-सात किलोमीटर दूर भैरोकोठी से मेहसौल तक ट्रैक्टर से छिड़काव किया। भैरवकोठी, मेहसौल पूर्वी, मेहसौल गोट, मेहसौल पश्चिमी, मोहनपुर आदि में ये काम किया। आगे दूसरे इलाकों में ऐसा किया जाएगा। 

सिवान के Hotspot बनते ही पश्चिम चंपारण की सभी सीमाएं सील

पश्चिम चंपारण। बिहार में सिवान के कोरोना Hotspot बनने के बाद पश्चिम चंपारण जिले की सभी सीमाओं काे सील कर दिया गया है। सड़क व जलमार्ग से भी आवाजाही पर पाबंदी लगा दी गई है। सिवान, गोपालगंज एवं यूपी से लगने वाली ग्रामीण सड़कों पर बैरियर लगाकर आवाजाही बंद करा दी गई है। जिले के बैरिया में गंडक दियारा लौकरिया एवं पखनाहा घाट पर पुलिस की मौजूदगी में बैरियर लगाकर आवाजाही बंद किया गया। जबकि नौतन में मंगलपुर के समीप मुख्य मार्ग पर बांस लगाकर रास्ते को बंद कर दिया गया है।

समस्तीपुर में लाॅकडाउन के बीच अपराधियों ने युवक को मारी गोली

समस्तीपुर। थाना क्षेत्र के महमदीपुर चकला में रिश्तेदार के यहां रह रहे एक युवक को बाइक सवार अपराधियों ने गोली मार दी। उसकी पहचान बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के धान सिरसी निवासी हाती सिंह के रूप में की गई है। उसे गंभीर हालत में इलाज के लिए पटना ले जाया गया। बताया गया कि पांच की संख्या में रहे अपराधी दो बाइकों पर सवार होकर पहुंचे थे। घटना की सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष सुमन कुमार ने पूरी जानकारी ली। बताया कि बख्तियारपुर थाने के धान सिरसी गांव के उक्त युवक पर अपने ही चाचा की हत्या का आरोप है। उसे नामजद आरोपित बनाया गया है। वह अपनी पहचान छुपाकर यहां रह रहा था।

आइआइटी पटना ने बनाई मशीन,  दो मिनट में सेनेटाइज होंगे 30 मास्क

पटना। आइआइटी पटना के इंक्यूबेशन सेंटर ने एम्स पटना के सहयोग से मशीन तैयार की है। इसके माध्यम से दो मिनट में 30 मास्क सैनिटाइज हो जाएंगे। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण वार्ड में एक बार ही मास्क के उपयोग की इजाजत होती है। अब मिनटों में मास्क के सैनिटाइज होने से इस पर खर्च होने वाली राशि एक चौथाई से भी कम हो जाएगी। 

राज्य के तीन कोरोना अस्पताल में बढ़ाए जाएंगे आईसीयू बेड

पटना। राज्य में कोरोना के मामले बढऩे के बाद तीन मेडिकल कॉलेज अस्पताल को कोरोना अस्पताल बनाया जाएगा। इनमें अभी करीब सवा सौ आईसीयू बेड हैं, जिसे पर्याप्त नहीं माना जा रहा है। अब पटना, गया एवं भागलपुर के इन तीन अस्पतालों में करीब 50 आईसीयू बेड बढ़ाने पर काम शुरू हो गया है।

सेनेटाइजर के प्रयोग में सावधानी जरूरी, नहीं तो हो सकता है चर्म रोग

मुजफ्फरपुर। कोरोना से बचाव के लिए हर कोई दिन में कई बार सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर रहा। लेकिन इसका अधिक इस्तेमाल स्किन के लिए नुकसानदायक हो सकता है। चर्म रोग हो सकता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि सैनिटाइजर के इस्तेमाल में सावधानी नहीं बरतने पर हाथ में सूखापन, एलर्जी, खुजली और हाथ फटने जैसी समस्या हो सकती है। बाजार में बिकने वाले अच्छी क्वालिटी के सैनिटाइजर का ही प्रयोग करना चाहिए। जिस सैनिटाइजर में 60 फीसद से ऊपर अल्कोहल हो उसका प्रयोग करें। सैनिटाइजर के प्रयोग के बाद हाथ में नारियल तेल या किसी तरह के मॉइश्चराइजर का उपयोग करें। रात में सोते समय इसे जरूर लगाएं। इससे हाथ मुलायम रहेगा व एलर्जी भी नहीं होगी। साबुन से भी हाथ धोने के बाद नारियल तेल या मॉइश्चराइजर लगाएं। विशेषज्ञ डॉक्टर से बात। 

मुजफ्फरपुर के सभी सीमा को किया गया सील

मुजफ्फरपुर। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर जिले की सभी  सीमा को शुक्रवार को पूरी तरह सील कर दिया गया। सभी सीमा पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस पदाधिकारियों की तैनाती कर दी गई है। इस दौरान सभी जगहों पर काफी संख्या में पुलिसकर्मियों की भी तैनाती की गई है। आवश्यक कार्य में लगे वाहनों को छोड़कर अन्य किसी भी वाहन को जिले के सीमा में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। 

पूर्वी चंपारण के मेहसी में मृत पाए गए 50 कौए, हड़कंप

पूर्वी चंपारण। कोरोना संकट के बीच मेहसी प्रखंड क्षेत्र के छोटा रमपुरवा गांव में मन ( सरेह) के किनारे बांसवारी में गुरुवार देर शाम  को पचास कौए मृत पाए गए। इसकी सूचना से हड़कंप मच गया। लोग भयभीत हो गए हैं। घटना की सूचना स्थानीय व्यापार मंडल अध्यक्ष भारत भूषण ङ्क्षसह और सरपंच अजय ङ्क्षसह ने डीएम शीर्षत कपिल अशोक को दी। इसके बाद शुक्रवार को प्रखंड पशुपालन पदाधिकारी डॉ. महाशंकर ने वहां का जायजा लिया।

20 लॉकडाउन ने परिवार नियोजन अभियान पर लगाई रोक

लखीसराय। कोरोना वायरस से बचाव को लेकर लागू लॉकडाउन के कारण परिवार नियोजन का कार्य ठप है। सदर अस्पताल लखीसराय सहित सभी पीएचसी में नसबंदी एवं बंध्याकरण नहीं किया जा रहा है। वहीं, सैंकड़ों परिवारों की जिंदगी ऑटो रिक्शा के सहारे चलती है। बंदी के साथ ही इनकी आय का जरिया खत्म हो गया है। सबके पास अपना घर और राशन कार्ड नहीं है। इनसे जुड़े संगठनों ने राज्य सरकार से खास इंतजाम की मांग की है। 

लीची बाग बेचने के लिए लॉकडाउन टूटने का इंतजार

मुजफ्फरपुर। इस साल मुजफ्फरपुर में लीची का बेहतर उत्पादन होने की संभावनाओं के बावजूद बाजार का अभाव है। लीची पर भी लॉकडाउन का असर पड़ा है। अब तक अन्य इलाकों के व्यवसायी बाग खरीदने नहीं पहुंच सके हैं। लिहाजा बेहतर उत्पादन के बावजूद किसानों को लीची का दाम मिलने के आसार नहीं दिख रहे हैं। हालांकि, किसानों की उम्मीदें अभी टूटी नहीं हैं। 

गेहूं की खरीदारी में विलंब तय

पटना। सरकारी समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद प्रक्रिया शुरू होने में विलंब तय है। एक अप्रैल से निबंधन की प्रक्रिया शुरू होनी थी। किंतु लॉकडाउन के चलते अभी तक शुरू नहीं हो सकी है। अब विभाग की तैयारी 15 अप्रैल से निबंधन शुरू करने की है। ऐसे में खरीद इस महीने से संभव नहीं हो सकेगा। 

हर्बल सैनिटाइजर बना निशुल्क बांट रहीं महिलाएं 

मधुबनी। कोरोना से बचाव के लिए मधुबनी की तकरीबन ढाई दर्जन महिलाएं हर्बल सैनिटाइजर बना रही हैं। खुद उपयोग करने के साथ लोगों में निशुल्क बांट रही हैं। अब तक तकरीबन 500 लोगों में इसका वितरण कर चुकी हैं। 

दरवाजे से ही पत्नी-बेटी को देख वापस थाने आ जाते हैं इंस्पेक्टर निशिकांत

पटना। कदमकुआं थाने के इंस्पेक्टर निशिकांत निशि 15 दिनों से घर नहीं गए हैं। वे रोज सुबह घर के दरवाजे तक जाते हैं और बाहर से ही हाल-चाल लेकर लौट आते हैं। इस बीच सब्जी, दूध जैसे जरूरी सामान छड़ी की मदद से पत्नी तक पहुंचाते हैं। लाइव तस्वीर के साथ रिपोर्ट।

आइसोलेशन वार्ड में भर्ती विदेशी नागरिक का सामान चोरी

छपरा : सदर अस्पताल के आपातकालीन कक्ष में आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हंगरी के नागरिक का लैपटॉप, स्मार्ट फोन, पासपोर्ट और चार हजार रुपये की चोरी गुरुवार की रात हो गई। स्थानीय थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। जानकारी के अनुसार, 10 दिन पहले लॉकडाउन की अवधि में मांझी में घूमते हंगरी के नागरिक को पुलिस ने पकड़ा था। सदर अस्पताल लाया गया। जांच रिपोर्ट आने तक आइसोलेशन वार्ड में रखने की सलाह दी गई थी। जांच रिपोर्ट चार दिन पहले ही निगेटिव आई है। लेकिन लॉकडाउन के कारण अस्पताल से छुट्टी नहीं दी गई। गुरुवार की रात उसका सामान चोरी चला गया। वह काफी दुखी है। पुलिस सदर अस्पताल में लगे सीसीटीवी की जांच कर रही है। 

 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस