पटना [जेएनएन]। राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के बारे में तमाम बातों और कयासों को खारिज करते हुए बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने समर्थकों को सतर्क रहने की सलाह दी। उन्‍होंने कहा कि आरजेडी की सियासत का आधार सामाजिक न्याय (Social Justice) एवं धर्मनिरपेक्षता (Secularism) है। शनिवार को पोलो रोड स्थित अपने सरकारी आवास में पार्टी के सदस्यता अभियान की समीक्षा के लिए बुलाई गई युवा राजद (Youth RJD) की बैठक में उनकी नसीहत बड़े भाई तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) पर भी लागू होती दिखी।
चेतावनी भरे लहजे में कही ये बात
तेजस्‍वी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए चेतावनी भरे लहजे में कहा कि जो लोग उनके आगे-पीछे घूमते व चेहरा चमकाने की कोशिश में लगे हैं, वे सावधान हो जाएं। जो आरजेडी के प्रति ईमानदार नहीं हैं, वे भी संभल जाएं, अब उन्हें कोई मौका नहीं देंगे। किसी की भी सिफारिश पर उनके प्रति नरमी नहीं बरतेंगे। कठोर कार्रवाई की जाएगी।
बयान से चर्चा में तेज प्रताप की गतिविधियां

तेजस्वी ने किसी का नाम तो नहीं लिया, लेकिन उनकी उक्‍त चेतावनी को तेज प्रताप से जोड़कर देखा जा रहा है।
बयान से चर्चा में तेज प्रताप की गतिविधियां चर्चा में आ गईं हैं। बीते लोकसभा चुनाव के दौरान तेज प्रताप यादव ने खुलकर पार्टी के अधिकृत प्रत्‍या‍िशियों का विरोध किया था तथा कई जगह अपने प्रत्‍याशियों को उतार दिया था। इस कारण आरजेडी का लोकसभा चुनाव में खाता तक नहीं खुल सका था। पार्टी में तेज प्रताप के खिलाफ आक्रोश इतना गहरा गया था कि दानापुर में मुर्दाबाद के नारे तक लग गए थे। पार्टी में तेज प्रताप के खिलाफ कार्रवाई की मांग उठी, लेकिन मामला ठंडे बस्‍ते में डाल दिया गया। खास बात यह है कि तेजस्वी के भाषण के दौरान तेज प्रताप भी बंगले में मौजूद थे, लेकिन वे बैठक में नहीं थे।
विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटने का निर्देश
बैठक में तेजस्वी ने विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) की तैयारियों में जुटने का निर्देश देते हुए कहा कि पार्टी मरते दम तक अपनी विचारधारा का सौदा नहीं कर सकती। उन्‍होंने दावा किया कि बिहार में अगली सरकार आरजेडी की होगी, क्योंकि डबल इंजन की पीएम मोदी व सीएम नीतीश की सरकार में जनता परेशान है। जनहित में काम नहीं किए जा रहे हैं।
आरजेडी में काम के हिसाब से मिलेगा सम्मान
तेजस्वी ने राज्य सरकार की नीतियों का विरोध करते हुए कहा कि शिक्षा और रोजगार के क्षेत्र में धोखा किया गया है। परिवर्तन के लिए युवाओं को आगे आना होगा। गोलबंद होकर काम करना होगा। उन्‍होंने कहा कि आरजेडी में काम के हिसाब से सम्मान मिलेगा।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप