पटना [जेएनएन]। प्रकाशपर्व पर केंद्रीय खुफिया एजेंसियों के अलर्ट के बाद आतंक निरोधक दस्ते के अधीन संचालित एसडब्ल्यूएटी (स्पेशल वीपन एंड टेक्टिस) की चार टीमें पटना सिटी गुरुद्वारा में प्रतिनियुक्त की गई हैं। ये टीमें आतंकी गतिविधियों पर पैनी नजर रखेंगी। एक टीम में 15 कमांडो हैं। सभी एके-47 रायफल और एमपी-5 मशीनगन समेत कई अत्याधुनिक हथियारों से लैस हैं। एसडब्ल्यूएटी के कमांडो को नेशनल सिक्योरिटी एजेंसी से आतंकियों का मुकाबला करने की विशेष ट्रेनिंग मिली है।

बताते चलें कि केंद्रीय खुफिया एजेंसियों ने नाभा जेल ब्रेक कांड के साजिशकर्ता फरार केएलएफ (खालिस्तान लिबरेशन फोर्स) के आतंकी कश्मीर सिंह की बिहार में छिपे होने की आशंका जाहिर की है।

एक प्रेमी के लिए सड़क पर उलझीं दो प्रेमिकाएं, हाई वोल्टेज ड्रामा देखने उमड़ी भीड़

अंदेशा जताया गया है कि वह अपनी पहचान छिपाने को हुलिया बदलकर रह रहा है। इसके बाद पुलिस मुख्यालय ने प्रकाशपर्व पर गुरुद्वारा की सुरक्षा में एसडब्ल्यूएटी के कमांडो की प्रतिनियुक्ति करने का निर्णय लिया। इसके साथ ही 19 प्रशिक्षित खोजी कुत्तों को भी लगाया गया है।

15 खोजी कुत्तों को गांधी मैदान और आसपास के इलाकों में लगाया गया है, जबकि चार खोजी कुत्ते पटना सिटी इलाके में रहेंगे। इन्हें विस्फोटक की पहचान करने की विशेष ट्रेनिंग प्राप्त है। बम निरोधक दस्ता समय-समय पर धार्मिक और सार्वजनिक स्थलों पर जांच कर रहा है।

प्रकाश पर्व की तैयारियों का नीतीश ने लिया जायजा, हरिमंदिर साहिब में मत्था टेका

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप